नयी दिल्ली,

कांग्रेस ने कर्नाटक विधान सभाचुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भाषण में पार्टी को धमकी दिये जाने की कड़ी भर्त्सना करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से अनुरोध किया है कि वह श्री मोदी कों अशोभनीय भाषा का इस्तेमाल न करने की चेतावनी दें और उन्हें पद की गरिमा को बनाये रखेने की सलाह दें ।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नवी आजाद , पूर्व वित्त मंत्री पी चिदम्बरम , पार्टी के वरिष्ठ नेता कर्ण सिंह , मोती लाल बोरा समेत कई नेताओं की ओर से श्री कोविंद को भेजे गये पत्र में श्री मोदी के छह मई को हुगली में दिये गये भाषण के संदर्भ में यह शिकायत की गयी है ।

पत्र में श्री मोदी के उस भाषण के एक अंश को उद्धृत किया गया है और उसका वीडियो भी भेजा गया है जिसमें उनके हवाले से कहा गया है “ कांग्रेस के नेता कान खोल कर सुन लीजिये अगर सीमाओं को पार करेंगे तो यह मोदी है , लेने के देने पर जायेंगे । ”

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री संविधान की शपथ लेकर कहता है कि वह उसके मूल्यों के अनुरुप काम करेगा और अब तक देश के सभी प्रधानमंत्रियों ने अपने पद की गरिमा और प्रतिष्ठा का ख्याल रखते हुये अपने दायित्वों का निर्वहन किया है लेकिन यह कल्पना भी नहीं किया जा सकता कि देश का प्रधानमंत्री मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के नेताओं को इस तरह खुलेआम धमकी देगा ।

Related Posts: