बिलासपुर,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान और कांगड़ा के कांडरोरी में भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान की आधारशिला रखी तथा उना में इस्पात संयंत्र राष्ट्र को समर्पित किया। श्री मोदी ने इस अवसर पर बिलासपुर में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज एक ही कार्यक्रम में 1500 करोड़ रुपए की परियोजनाओं की शुरुआत हुयी है।

एम्म के बनने से न सिर्फ स्थानीय लोगों को का लाभ मिलेगा बल्कि यहां आने वाले पर्यटकों के लिए भी सहूलियतें होंगी। एम्स के बनने से राज्य में फेफड़े और सांस की बीमारी की जो बड़ी समस्या है उससे लोगों को काफी राहत मिलेगी। एम्स के कैंपस में एक साथ 3000 लोगों को रोजगार मिलेगा। एम्स के साथ ही इस्पात संयंत्र और सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान से भी राज्य के लोग लाभान्वित होंगे।

उन्होंने इस अवसर पर तीन दिन पहले सर्जिकल स्ट्राइक की सालगिरह का जिक्र करते हुए कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक कर सेना ने दिखा दिया कि वह भी कम नहीं है। आज सेना का मनोबल बढ़ा हुआ है, ऐसा कई साल बाद हुआ है। हिमाचल प्रदेश के हर गांव में फौजी रहते हैं। मीडिया ने इसका जश्न मनाया, उसके लिए उन्हें बधाई देना चाहता हूं। देशभर में इस प्रकार की भावना होना जरूरी है।

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर सरकार द्वारा भ्रष्टाचार के खिलाफ चलायी गयी मुहिम का जिक्र करते हुए कहा, “हमारा देश गरीब नहीं था, देश को भ्रष्टाचार ने खोखला कर दिया है। एक बार फिर नया युग आया है। तीन साल में हमारी सरकार पर भ्रष्टाचार का दाग नहीं लगा है, 2014 में रोजाना खबर आती थी कि कोयला, 2जी में इतना सारा पैसा गया है। अब ऐसी खबरें नहीं आती हैं।

Related Posts: