parekhनई दिल्ली। अर्थव्यवस्था के निराशाजनक हालात को लेकर तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर सबसे पहला हमला बोलने वाले देश के दिग्गज इंडस्ट्री लीडर दीपक पारेख को मोदी सरकार से भी निराशा हो रही है। पारेख ने आज मोदी सरकार के बारे में कहा कि पीएम के नाम खुशकिस्मती के नौ महीने थे लेकिन जमीन पर कोई बदलाव देखने को नहीं मिला। पारेख ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के पास ऐसे लकी नौ महीने थे जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतें नीचे आती गईं लेकिन जमीन पर कोई बदलाव नहीं आया और न की बिजनेस करने के हालात में कोई सुधार देखने को मिला।

Related Posts: