भोपाल,

मध्यप्रदेश की खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधराराजे सिंधिया को आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में निर्वाचन आयोग की ओर से नोटिस मिलने से उनकी मुश्किलें बढ़ गयी हैं।

आयोग के सूत्रों के अनुसार शिवपुरी जिले के कोलारस विधानसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पक्ष में प्रचार के दौरान श्रीमती सिंधिया ने मतदाताओं को कथित तौर पर पार्टी को वोट नहीं देने पर लोगों की सरकारी सुविधाओं में कमी करने के मामले में कल शाम नोटिस जारी किया है।

श्रीमती सिंधिया से तीन दिनों में नोटिस का जवाब मांगा गया है। इसमें श्रीमती सिंधिया से उनके पड़ोरा गांव में दिए गए कथित बयान के संबंध में स्थिति स्पष्ट करने को कहा गया है।

कांग्रेस ने इस संबंध में यहां मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में शिकायत करते हुए आरोप लगाया था कि श्रीमती सिंधिया ने शुक्रवार को पड़ोरा गांव में जनसभा के दौरान मतदाताओं को भाजपा के पक्ष में वोट डालने के लिए कहा और ऐसा नहीं करने पर उनको सरकारी योजनाओं से वंचित करने की धमकी दी गयी।

शिकायत में कहा गया है कि ऐसा करके श्रीमती सिंधिया ने आदर्श आचार संहिता का भी उल्लंघन किया है, इसलिए उनके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई होना चाहिए। कांग्रेस ने इस संबंध में एक वीडियो से संबंधित सीडी भी सौंपी है।

श्रीमती सिंधिया शिवपुरी विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करती हैं। शिवपुरी जिले के कोलारस में विधानसभा उपचुनाव है। इसके लिए प्रचार अभियान अब चरम पर पहुंच गया है।

सत्तारूढ़ दल भाजपा इस सीट को कांग्रेस से छीनने के लिए पूरा जाेर लगा रही है। इसी रणनीति के तहत श्रीमती सिंधिया को भी चुनाव प्रचार करना पड़ रहा है। इस सीट पर विजय पाने के लिए कांग्रेस की ओर से मुख्य रूप से वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया सक्रिय हैं। यह सीट तत्कालीन सिंधिया रियासत के प्रभाव में मानी जाती है।

Related Posts: