कटारे मामला

नवभारत न्यूज भोपाल,

कांग्रेस विधायक हेमंत कटारे पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली युवती ने जेल से रिहा होने के बाद कई गंभीर आरोप क्राइम ब्रांच पुलिस और एएसपी रश्मि मिश्रा पर लगाए थे, अब युवती ने आईजी जयदीप प्रसाद पर गंभीर आरोप लगाए हैं. छात्रा ने मामले में आईजी जयदीप प्रसाद की भूमिका की जांच की मांग की है.

पीडि़त युवती का कहना है कि केस दर्ज होने पहले मामले की सत्यता की जांच होनी चाहिए थी. अगर कोई वीडियो थे, तो मुझसे पूछताछ करनी थी, सच्चाई जानने की कोशिश नहीं की गई और मुझे जेल भेज दिया, जेल भेजकर मेरी जिंदगी खऱाब कर दी. युवती ने कहा है कि आईजी ने ऑर्डर दिए हैं, तो उनकी भी जांच होनी चाहिए.

जब हेमंत आईजी के पास गया था, तो उसे गंभीरता से लेना था. पूछताछ होनी थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. युवती ने कहा है कि आईजी जयदीप प्रसाद की भूमिका की जांच होनी चाहिए.

गौरतलब है कि कांग्रेस विधायक हेमंत कटारे ब्लैकमेलिंग मामले में रेप पीडि़त छात्रा ने जेल से रिहा होते ही मीडिया के सामने अपनी आपबीती बताई थी. जेल से छूटने के बाद प्रेस कांफ्रेंस में छात्रा ने बताया था कि ब्लैकमेल मैंने नहीं किया बल्कि मैं ब्लैकमेल हुई हूं. युवती ने पुलिस पर विधायक से पूछकर कार्रवाई करने के आरोप लगाए है और क्राइम ब्रांच और एएसपी रश्मि मिश्रा पर भी संगीन आरोप लगाए हैं.

कटारे को फरार घोषित करने की तैयारी

दुष्कर्म के आरोप लगने के बाद से भूमिगत हुए कांग्रेस विधायक हेमंत कटारे को जल्द ही एसआईआटी फरार घोषित करने की तैयारी में है. एसआईटी की ओर से दुष्कर्म के मामले में कटारे को बयान दर्ज करने के लिए नोटिस भी जारी किया, रविवार को कटारे के ठिकानों पर दबिश दी गई.

साथ ही उनके भाई के बयान दर्ज किए और कहा कि यदि आरोपी हेमंत संपर्क में आता है तो उसे बयान दर्ज कराने के लिए भेजें.लेकिन अब तक कटारे बयान दर्ज कराने नहीं पहुंचे हैं. मामले में कटारे के पार्टनर ने भी बयान दर्ज कराये हैं, जिसमे उसने छात्रा के आरोपों को बेबुनियाद बताया है.