निगम बना रहा जलसंकट से निपटने कार्ययोजना

नवभारत न्यूनज भोपाल,

शहर में गर्मी की आहट होते ही अलग-अलग इलाकों से अभी से पानी की किल्लत के स्वर सुनाई देने लगे है. पिछले एक सप्ताह से पानी की किल्लत को लेकर हर एक दो दिन में रहवासियों का आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है.

हालांकि निगम प्रशासन पहले ही पानी की कमी आशंका के चलते बड़ी झील से सप्लाई होने वाला पानी भेल ,लॉ अकादमी, रेलवे प्रशासन को पत्र लिख चुका है. इसमें उसने रोजना के पानी की वैकल्पिक इंतजाम के लिए कहा है. मगर अभी सप्लाई पूर्व की तरह की इन संस्थाओं को की जा रही है. निगम गर्मी में पानी संकट न हो इसके लिए नई कार्ययोजना तैयार करने में जुट गया है.

हालांकि अभी किसी तरह का तय नीतिगत निर्णय अभी नही हुआ है. पानी का बेहतर प्रबंधन कैसे हो इन उपायो पर मंथन किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि गर्मी में पानी की किल्लत से निबटने निगम की ओर से तेजी से शहर भर की वर्तमान जलापूर्ति व्यवस्था के तय शेड्यूल की समीक्षा की जा रही है. साथ ही ऐसे इलाके जहां पानी कमी की शिकायते आती है.

हो सकती है पानी के समय में आशिंक कटौती

शहर की वर्तमान जलापूर्ति व्यवस्था में आंशिक परिवर्तन जल्द हो सकता है. निगम सूत्रों का कहना है कि शहर के ऐसे इलाके जहां एक दिन छोडक़र पानी दिया जा रहा है.उस शेड्यूल में वर्तमान सप्लाई समय में कटौती की जा सकती है. जबकि कुछ इलाके ऐसे भी है जहां रोज पानी सप्लाई हो रहा है. ऐसे क्षेत्रों में एक दिन छोढक़र और तय समय में कटौती करके पानी दिया जा सकता है.

गहराने लगा जलसंकट

बताया जाता है कि हाल ही में बीते बुधवार को टीटी नगर के रहवासियों ने पानी नहीं आने पर माता मंदिर के सामने प्रदर्शन कर विरोध किया था. ऐसे पिछले चार दिन पूर्व भी पुराने शहर के कुछ रहविासियों ने आक्रोश व्यक्त कर नियमित जलापूर्ति की मांग उठाई थी. जबकि कोलार इलाके में भी अभी से जलसंकट के स्वर गूंजने लगे हैं. यहां गर्मी में टैंकर से पानी सप्लाई के भी वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है. हालांकि कोलार लाइन से यहां पानी सप्लाई हो रहा है.

फिलहाल शहर की नियमित जलापूर्ति व्यवस्था में कोई परिवर्तन नही हुआ है. मगर गर्मी में संकट न हो इसके उपायो के लिये योजना तैयार की जा रही है.वह कब होगी इसकी समय सीमा बताना अभी मुश्किल है. लेकिन हमारा प्रयास है कि शहर में सभी को गर्मी में पानी मिले ऐसी व्यवस्था जल्द ही होगी.
एमपीसिंह , अपर आयुक्त

Related Posts: