पिछले साल पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने सतना से बलराज नामक व्यक्ति को पकड़ा, जिसे पाकिस्तान की खुफिया एजेन्सी से रुपया मिलता था. वह भारत में पाकिस्तानी आतंकी लोगों तक पहुंचाता था. इस व्यक्ति के बारे में जम्मू में पकड़े गये एक पाकिस्तानी आतंकी से पूछताछ में मिला था. भारत की एन.आई.ए. ने काश्मीर में गिलानी परिवार को लोगों को पाकिस्तान से फन्ड लेने के अपराध में पकड़ा है.

अभी उत्तरप्रदेश की पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने उनके राज्य में ‘टैरर फंडिंग’ की गैंग को गोरखपुर, लखनऊ प्रतापगढ़ से 10 लोगों को पकड़ा है जो पाकिस्तान से भारत में आतंकियों को फन्ड पहुंचाने का काम करते हैं. उनकी जानकारी से बिहार व मध्यप्रदेश से भी लोगों को पकड़ा गया है.

उत्तरप्रदेश पुलिस ने रीवा जिले के सेमरिया थाने के अंतर्गत बीडा गांव में दबिश देकर उमा प्रताप सिंह को पकड़ा है. इसके पास से कई बैंकों की पासबुक एवं फोन बरामद हुए. इसे उत्तरप्रदेश पुलिस उनके राज्य में ले गयी है. अभी गहन जांच चल रही है और कई गिरफ्तारियां होंगी.

पिछले वर्ष सतना से जो बलराज पकड़ा गया था उसकी जाकनारी में भोपाल में भी यही के रहने वाले पाकिस्तान जासूस पकड़े गये. इसमें एक ध्रुव सक्सेना भी है जिसने अपने को संदेह से बचाने के लिए भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ले ली थी और सक्रियता से काम करता था. अफसोस इस बात का है कि ऐसे लोग ज्यादातर हिन्दू है जो पाकिस्तान के जासूस है.

Related Posts: