प्रीति सुसाइड पर विधानसभा में जमकर हंगामा, अस्थियां संचय करने पहुंचा मंत्री पुत्र गिरजेश

  • कांग्रेस ने नहीं चलने दिया प्रश्नकाल, नारे लगाए
  • अजय सिंह, अरुण यादव प्रीति के परिजनों से मिले

भोपाल/रायसेन/विदिशा,

अंतत: मंत्री रामपाल सिंह को प्रीति रघुवंशी को अपनी बहू मानना पड़ा. यह स्वीकारोक्ति उन्होंने विधानसभा के बाहर मीडिया के समक्ष की. इससे पूर्व लोक निर्माण मंत्री रामपाल सिंह के पुत्र गिरजेश पर कार्रवाई और प्रीति आत्महत्या मामले पर चर्चा कराए जाने को लेकर विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ. विपक्ष इस मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव लाकर चर्चा की मांग करता रहा तो सत्तापक्ष ने विरोध किया.

नेता प्रतिपक्ष सहित अन्य कांग्रेस विधायकों ने गर्भगृह में जाकर जमकर नारे लगाए और दोषियों पर कार्रवाई की मांग की. हंगामे के चलते प्रश्नकाल भी नहीं हो सका और विधानसभा की कार्रवाई पहले तीन बार फिर बुधवार तक के लिए स्थगित कर दी गई. वहीं प्रीति रघुवंशी आत्महत्या मामले में बढ़ते दबाव के बीच मंत्री रामपाल सिंह के पुत्र गिरजेश मंगलवार सुबह प्रीति की अस्थियां उठाने उदयपुरा के मुक्तिधाम पहुंचा.

पहली बार मंत्री के बेटे ने प्रीति के परिजनों की किसी मांग को स्वीकारा है. परिजन लगातार ये मांग कर रहे थे कि गिरजेश प्रीति को अपनी पत्नी स्वीकार करें और उसका अंतिम संस्कार करे, लेकिन वे नहीं पहुंचे थे, अब माना जा रहा है कि रघुवंशी समाज के लगातार दबाव के चलते आखिरकार प्रीति से अपना रिश्ता स्वीकार कर लिया.

वहीं इस मामले की जानकारी लगते ही मंत्री रामपाल सिंह ने विधानसभा के बाहर परिसर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि उन्हें पहले मालूम नहीं था, यदि बेटे ने बताया होता तो वे प्रीति को पहले ही बहू के रूप में स्वीकार कर लेते. प्रश्नकाल शुरू होते ही नेता प्रतिपक्ष ने प्रीति आत्महत्या मामले में चर्चा कराए जाने की मांग की, लेकिन सत्तापक्ष ने इसका जमकर विरोध किया.

इस दौरान सत्तापक्ष व विपक्ष ने जमकर हंगामा किया. सत्तापक्ष का कहना था कि विपक्ष जानबूझकर प्रश्नकाल को बाधित कर रहा है, वहीं विपक्ष ने गंभीर मामले पर चर्चा नहीं कराने का आरोप लगाया.

संसदीय कार्य मंत्री व नेता प्रतिपक्ष केे बीच नोक-झोंक

प्रीति आत्महत्या मामले को लेकर संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के बीच तीखी नोकझोंक हुई. नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकार दोषियों को बचा रही है, इस मामले पर तत्काल चर्चा होनी चाहिए. वहीं मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस अपनी सुविधा से महिला उत्पीडऩ तय कर रही है.

विधायक हेमंत कटारे मामले में उत्पीडऩ की बात कहां गई थी. इस मामले को सदन में क्यों नहीं उठाया गया. मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि चर्चा के लिए आसंदी पर दबाव नहीं बनाया जा सकता. स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा को लेकर कांग्रेस ने गर्भगृह में नारेबाजी की तथा अध्यक्ष से अनुरोध किया कि वे प्रजातंत्र की रक्षा करें.

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि आर्य समाज मंदिर में शादी की बात सामने आ चुकी है, उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि 24 घंटे में लेनदेन हो जाएगा और लडक़ी वालों से आवेदन ले लिया जाएगा कि वे कोई कार्रवाई नहीं चाहते. नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि उनके पास गिरजेश का एफीडेविट भी है, जिसमें उसने स्वीकारा है कि आर्य समाज मंदिर में उसने शादी की है.

कांग्रेस लड़ेगी प्रीति के हक की लड़ाई

मंगलवार को उदयपुरा पहुंचे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मृतका प्रीति के परिजनों को ढांढस बंधाते हुए कहा कि प्रीति को हक दिलाने की लड़ाई कांग्रेस लड़ेगी. उन्होंने कहा कि मंत्री रामपाल सिंह और उनके परिजनों की प्रताडऩा से परेशान होकर प्रीति ने आत्महत्या की है। इस मामले में जब तक दोषियों पर मामला दर्ज नहीं होता तब तक कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी.

प्रीति के घर पहुंचे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रीति के पिता और भाई से घटनाक्रम की सिलसिलेवार चर्चा की. इस दौरान घटना की जानकारी देते समय प्रीति के पिता और उसके भाई फफक-फफककर रो पड़े। कांग्रेस नेताओं ने उन्हें संात्वना देते हुए कहा कि दुख की इस घड़ी में पूरा कांग्रेस परिवार उनके साथ है.

आरती आत्महत्या का दिया हवाला

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि राजधानी में अभी हाल ही में एक मामला सामने आया, जिसमें दानिश नाम का व्यक्ति शामिल था, उन्होंने कहा कि आरती आत्महत्या मामले में पीडि़ता के परिवारजनों की एफआईआर दर्ज हुई थी कि नहीं, वहीं प्रीति मामले में पुलिस जांच की बात कह रही है.