कमरे से डेढ़ दर्जन से अधिक सुसाइड नोट बरामद, सुसाइड नोट में बताया-खुद को गे

  • कहा- मेरा अंतिम संस्कार उसी के हाथ से हो
  • 7 फरवरी को हुआ था लापता

नवभारत न्यूज भोपाल,

चार दिन पहले बागसेवनियां क्षेत्र से लापता हुए युवक की लाश बड़े तालाब में रविवार सुबह मिली. पुलिस ने शव को निकलवाकर पीएम के लिए भिजवाया. मृतक युवक के कमरे से पुलिस ने डेढ़ दर्जन से अधिक सुसाइड नोट बरामद किए हैं, जिसमें उसने खुद को गे बताया है. पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना शुरू कर दी है.

पुलिस के मुताबिक नीलोत्पल सरकार पिता निर्मलेंदू सरकार उम्र 27 वर्ष मूलत: निवासी हरिद्वार साकेत नगर में किराए से रहता था. वह एम्प्री में नैनो टेक्नॉलॉजी रिसर्च के लिए अगस्त 2017 में छह महीने के लिए भोपाल आया हुआ था. वह यहां पर परशुराम साहू के मकान में किराए से रहता था.

7 फरवरी की शाम करीब साढ़े 7 बजे उसने बाई को खाना बनाने से मना कर दिया. इसके बाद वह घर से निकल गया, तब से नहीं लौटा. मकान मालिक ने फोन पर संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन उसका मोबाइल बंद आ रहा था जिसके बाद उन्होंने बागसेवनिया थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी.

7 तारीख को युवक ने अपने फेसबुक से एसपी साउथ को एक मैसेज भी किया था, जिसमें कहा था कि वह जीना नहीं चाहता था. जैसे ही उन्हें इसकी जानकारी लगी उन्होंने बागसेवनियां पुलिस को मामले की जांच के आदेश दिए थे, लेकिन युवक का पुलिस से कोई संपर्क नहीं हो पाया.

रविवार सुबह पुलिस को सूचना मिली कि बड़े तालाब मेें एक लाश पड़ी हुई है, पुलिस ने पहुंच कर निकलवाया तो उसकी शिनाख्त नीलोत्पक के रूप में हुई.एएसपी राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि लाश दो दिन पुरानी है. पुलिस के मुताबिक वह काली मां का भक्त था और हाल ही में कामख्या देवी के मंदिर दर्शन कर गुवाहटी से वापिस आया था.

जिस दिन प्यार का इजहार किया, उसी दिन मौत

घटना के बाद पुलिस नीलोत्पल के कमरे पर पहुंची तो वहां पर 20 से अधिक सुसाइड नोट दीबार पर चिपके मिले. इसमें लिखा है कि अक्टूबर 2016 में काली मां ने सपना दिया था, उन्होंने कहा था कि मुझे मेरा जीवन साथी एक साल के अंदर मिल जाएगा, लेकिन तुम उससे प्यार का इजहार नहीं कर सकते हो, अगर तुमने ऐसा किया तो तुम्हारे प्यार की मौत हो जाएगी.

आज 7 फरवरी को पूरा हो गया है, अब मैं खुदकुशी करने जा रहा हूं, मैं उससे इजहार करूंगा, लेकिन भगवान आप उसे कुछ नहीं करना क्योंकि मैं मरने जा रहा हूं. उसने यह भी लिखा कि आई एम नॉट स्ट्रेट, आई एम गे एंड आई एम प्रॉउड ऑफ इट. आई एम गे. मैं अपने प्यार से नहीं मिल सका, लेकिन मेरी इच्छा है कि मेरा अंतिम संस्कार उसी के हाथों से हो. आई लव यू, मैरी मी. हर नोट के नीचे उसने अपना नाम नीलोत्पल लिखा है.

मृतक के कमरे से 20 से अधिक सुसाइड नोट दीवार पर चिपके मिले हैं. प्रथम द्वष्टया ऐसा प्रतीत हो रहा है कि युवक ने डिप्रेशन में आकर यह कदम उठाया है. मामले की जांच की जा रही है.
राजेश सिंह भदौरिया
एएसपी जोन-3

बेटा लौट आ नहीं तो बिग लॉस हो जाएगा: मां

नीलोत्पल के फेसबुक पेज पर सुसाइड नोट के साथ जारी वीडियो सामने आने के बाद उसकी मां ने वीडियो जारी किया था जिसमें कहा था कि बेटा तू कहां है, हम लोग परेशान हैं, पापा बीमार हैं और तुझे याद कर रहे हैं. मैं उन्हें तेरे बारे में नहीं बता सकती हूं, मेरी बात सुन रहे हो तो जहां भी हो वापस आ जाओ. अगर तुम नहीं आए तो बड़ा लॉस हो जाएगा. युवक की मां ने लडख़ड़ाती आवाज में वीडियो जारी कर बेटे को वापस आने की अपील की थी.

Related Posts: