नयी दिल्ली,

कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने आज कहा कि खरीफ फसलों के आने के पहले ही किसानों के लिए फसलों की लागत का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित कर दिया जायेगा ।

श्री सिंह ने फिक्की की ओर से आयोजित मक्का सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि कुछ फसलों पर कृषि लागत का डेढ गुना मूल्य दिया जा रहा है लेकिन कुछ फसलों को यह मूल्य नहीं मिल रहा है।

खरीफ फसल के पहले ही सभी फसलों का बढा हुआ समर्थन मूल्य घोषित कर दिया जायेगा । इस संबंध में नीति आयोग से चर्चा की गयी है और राज्यों के साथ भी विचार विमर्श किया जायेगा ।

उन्होंने कहा कि मक्का का भी मूल्य उत्पादन लागत का डेढ़ गुना नहीं है। मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य उत्पादन लागत का 37 प्रतिशत ही है। इस समय मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1,440 रुपये प्रति क्विंटल है।

उन्होंने कहा कि फसलों का मूल्य न्यूनतम समर्थन मूल्य से नीचे आता है तो व्यापक पैमाने पर सरकारी स्तर पर उसकी खरीद की जायेगी । इससे राजकोष पर बोझ बढेगा लेकिन लोगों को यह समझना चाहिये कि इस पर पहला अधिकार किसानों और मजदूरों का है ।

Related Posts: