दोपहर में चिलचिलाती धूप ने सडक़ों को किया बेरौनक

  • पसरने लगा सन्नाटा

नवभारत न्यूज भोपाल,

राजधानी सहित प्रदेश में झुलसाने वाली गर्मी की तपीश बढऩे लगी है. मार्च माह के अंतिम दिनों में गर्मी लोगों को बेहाल कर रही है. अगर यही हाल रहा तो अप्रैल में प्रदेश में पारा 40 के पार पहले सप्ताह से ही हो सकता है.

भोपाल शहर में बुधवार को दिन का तापमान सामान्य से 4 डिग्री अधिक दर्ज किया गया. आज अधिकतम तापमान 38.5 डिग्री रिकार्ड किया गया.जबकि शहर का न्यूनतम तापमान 19 डिग्री के आसपास रिकार्ड किया गया. अगर गर्मी का आज की तरह हाल रहा तो गर्मी बीते दस साल का रिकार्ड तोड़ सकती है. भोपाल शहर में सुबह से ही सूर्यनारायण ने अपनी उपस्थिति का अहसास कराना शुरू कर दिया था.

शनै-शनै यह तपीश लोगों से झुलसाने लगी. दोपहर में शहर में सडक़ों पर सन्नाटा पसरना शुरू हो गया. लोग चटख भरी धूप से बचने घरों या दफ्तरों में ही दुबके पर मजबूर होते नजर आए.

गर्म हवाओं की गिरफ्त में रहा शहर

भोपाल में बुधवार इस महीने का सबसे गर्म दिन रहा. गर्म हवाओं के चलते सूरज की तपीश गरम थपेड़ों का अहसास करा रही थी. राजस्थान से आ रही गर्म हवाओं ने शहर के तापमान में काफी इजाफा हो गया.शहर देर शाम तक शहर गर्म हवा की गिरफ्त में रहा. जबकि मंगलवार को भोपाल का अधिकतम तापमान 38.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.एक ही दिन में इसमें करीब ढाई डिग्री सेल्सियस की वृद्धि दर्ज की गई.

अगले चौबीस घंटे में क्या

स्थानीय मौसम केन्द्र ने राजधानी भोपाल सहित प्रदेश भर में अगले दो-तीन दिन तक ऐसा ही मौसम बने रहने की संभावना जताई है.शहर का अधिकतम तापमान 39 डिग्री के आसपास रहने की संभावना है. और प्रदेश के खरगोन, विदिशा, उज्जेन का पारा चालीस के आसपास रहने की संभावना व्यक्त की गई है.

इसलिए बढ़ा पारा

स्थानीय मौसम केन्द्र के मौसम विज्ञानी आरआर त्रिपाठी के अनुसार शहर का तापमान बढऩे का मुख्य कारण राजस्थान से आ रही गर्म हवाएं हैं.राजस्थान में तापमान बढ़े हुए हैं इस कारण यहां भी बढ़ोतरी हो रही है. शहर में उत्तर-पश्चिमी हवा चल रही है. इस समय आसमान साफ है. सीधी धूप पड़ रही है. हवा में नमी भी नहीं है. इस कारण सभी जगह के तापमान में इजाफा हो रहा है.

मुंह पर दुपट्टा बांधे नजर आए लोग

शहर में गर्मी बढऩे से बुधवार की दोपहर लोग सडक़ों पर मुंह पर दुपट्टा बांधे नजर आए. यही स्थित दोपहर के समय सडक़ों गुजर रहे अधिकांश राहगीरों की भी रही तो गर्मी से बचने मुंह पर दुपट्टा लपेटे दिखाई दिए.

Related Posts: