वाराणसी,

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के सिगरा क्षेत्र में कैंट रेलवे स्टेशन के निकट निर्माणाधीन फ्लाईओवर हादसे में बचाव एवं राहत का काम पूरा हो चुका है।

एनडीअारएफ के डीआईजी आलोक कुमार सिंह ने आज बताया कि बचाव कार्य पूरा हो चुका है। बीम को क्रेन की मदद से हटाया जा चुका है। मलबे में दबे वाहनो को दाेपहर तक हटाया जायेगा। भीडभाड वाले इस क्षेत्र में निर्माणधीन पुल के दोनाे ओर दीवार खडी की जायेगी। निर्माण कार्य फिलहाल स्थगित रहेगा।उन्होने कहा कि हादसे में 16 लोगों की मृत्यु हुयी है जबकि आठ लोग गंभीर रूप से घायल हैं। बचाव दल ने मलबे से तीन लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला है।

आधिकारिक तौर पर मृतकों की संख्या पर असमंजस बना हुआ है। मुख्य सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी ने कल रात 18 लोगों के मरने की पुष्टि की थी जबकि एनडीआरएफ के पुलिस उपमहानिरीक्षक ने हादसे में 16 लोगों की मृत्यु की बात कही है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक हादसे में घायल दो लोगों ने देर रात उपचार के दौरान दम तोड़ दिया जिससे घटना में मरने वालों की तादाद बढकर 20 हाे गयी है। हादसे में घायल लोगों को बीएचयू ट्रामा सेंटर समेत अन्य अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। घायलों में पांच की हालत बेहद नाजुक बनी हुयी है। उत्तर प्रदेश सरकार ने मृतकों के परिजनों को पांच पांच लाख और घायलों को दो दो लाख रूपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मध्य रात्रि को घटनास्थल का दौरा किया और अधिकारियों से हादसे के कारणों की पडताल की। उन्हाेने अस्पतालों में भर्ती घायलों का हालचाल जाना और पीडितों के परिजनो का सरकार की ओर से हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया।

Related Posts: