नियमितीकरण की मांग को लेकर कर रहे प्रदर्शन

नवभारत न्यूज भोपाल,

संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के तत्वावधान में अनिश्चितकालीन हड़ताल कर रहे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने हड़ताल के दूसरे दिन मंगलवार को काले दिवस के रूप में मनाया.

इस दौरान कर्मचारियों ने काले कपड़े पहनकर, काले गुब्बारे छोडक़र एवं काली पट्टी बांधकर अपना विरोध प्रदर्शन किया. कर्मचारी जे.पी. अस्पताल के प्रांगण में प्रदर्शन कर रहे थे. संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी प्रमुखत: अपनी दो मांगों, जिसमें एक नियमितीकरण और दूसरी निष्कासित किये गये संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की पुन: पदस्थापना को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गये हैं.

कर्मचारियों की इस हड़ताल में डॉक्टर्स, नर्स, तकनीशियन एवं प्रशासनिक कर्मचारी शामिल हैं. गौरतलब हो कि प्रदेशभर में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की संख्या उन्नीस हजार है और जिले में सैकड़ों कर्मचारी कार्यकर्ता हैं.

जिले के सरकारी अस्पतालों में कार्यरत्ï कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने से स्वास्थ्य सेवाओं पर असर पड़ रहा है. जिसके चलते स्थायी स्वास्थ्य कर्मचारियों पर अतिरिक्त कार्य आ गया है. जैसे कि हड़ताल में नर्सों के शामिल हो जाने से स्थाई नर्सों को ज्यादा काम करना पड़ रहा है साथ ही नर्सों की संख्या कम होने की वजह से ज्यादा मरीजों की देखभाल स्थायी नर्सों को करनी पड़ रही है.

इसके अलावा हड़ताल में शामिल संविदा आयुष डॉक्टरों की वजह से जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर लोगों को इलाज नहीं मिल पा रहा है. तकनीशियनों के कारण मरीजों की जांचें प्रभावित हो रही हैं और कागजी कार्यवाही पर भी असर पड़ा है.

Related Posts: