मुख्यमंत्री चौहान ने किया स्मार्ट सिटी के 500 करोड़ के निर्माण कार्यों का शिलान्यास

  • हर गरीब को मिलेगा आवास

भोपाल,

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के नागरिकों से भोपाल शहर को भारतीय संस्कारों और मूल्यों पर आधारित स्मार्ट सिटी बनाने में सहयोग करने आव्हान किया है. उन्होंने कहा है कि उच्च नागरिक संस्कारों के प्रतीक शहर के रूप में भी भोपाल अपनी पहचान बनाये.

चौहान गुरुवार को भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन द्वारा किये जा रहे क्षेत्र आधारित विकास कार्यों के अंतर्गत शासकीय बहुमंजिला आवासों के भूमि-पूजन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. चौहान ने इनक्यूबेशन केन्द्र और एकीकृत कंट्रोल एवं कमांड सेंटर सहित कुल 500 करोड़ रुपये लागत के कार्यों का शिलान्यास किया गया.

चौहान ने कहा कि भोपाल शहर को आधुनिक बनाने के लिए 18 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के निर्माण कार्य चल रहे हैं. चौहान ने मुख्यमंत्री आश्रय योजना के अंतर्गत पात्र लोगों को आवासीय पट्टे वितरित किये. उन्होंने कहा कि कोई गरीब बिना आवास के नहीं रहेगा, उन्हें पूरा सम्मान मिलेगा. चौहान ने कहा कि सरकार ने कर्मचारियों और हर वर्ग का पूरा ध्यान रखा है.

मुख्यमंत्री ने शौर्य स्मारक का उल्लेख करते हुए कहा कि अब यह देशभक्ति का संस्कार देने का प्रेरणा केन्द्र बन चुका है. उन्होंने बताया कि भारत माता मंदिर परिसर के निर्माण के लिए जमीन आवंटित दी गई है.

रानी कमलापति की प्रतिमा भी स्थापित की जाएगी. उन्होंने कहा कि देश भक्ति की प्रेरणा देने वाले शहर के रूप में भी भोपाल की पहचान होगी.

इस अवसर पर स्मार्ट सिटी का स्वरूप दिखाने वाली एक फिल्म भी दिखाई गई.
मंत्रोच्चारण के साथ भूमि-पूजन कार्यक्रम संपन्न हुआ. पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर, विधायक सुरेन्द्र नाथ सिंह, नगर निगम अध्यक्ष डॉ. सुरजीत सिंह चौहान, मध्यप्रदेश माटीकला बोर्ड के अध्यक्ष रामदयाल प्रजापति और बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे.

भोपाल को बनाएंगे झुग्गीमुक्त शहर

उन्होंने नागरिकों से आग्रह किया कि वे भोपाल को न सिर्फ देश बल्कि विश्व के बेहतरीन शहरों में शामिल करने में कोई प्रयास अधूरे नहीं छोड़ें. उन्होंने कहा कि भोपाल को झुग्गी मुक्त शहर बनाने में किसी प्रकार की कसर नही छोड़ेंगे.

चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में 51 हजार 894 मकान बनाकर जरूरतमंदों को दिए जा रहे हैं. इस योजना में 13 हजार से ज्यादा मकान बन चुके हैं. भोपाल को आधुनिक बनाने में एक हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किये जा रहे हैं. उन्होंने नागरिकों से भोपाल को स्वच्छता सर्वे में देश का नंबर वन शहर बनाने का संकल्प दिलाया.

स्मार्ट सिटी की तरह मुख्यमंत्री भी स्मार्ट : भार्गव

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने स्मार्ट सिटी की प्रशंसा करते हुए कहा कि हमारे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी स्मार्ट हैं. भार्गव ने राजधानी में स्मार्ट सिटी के निर्माण कार्यो के भूमिपूजन के अवसर पर चौहान को स्मार्ट बताते हुए कहा कि वे स्मार्ट सिटी की तरह स्मार्ट हैं. उन्होंने कहा कि सोच, आचरण, चालचलन, रहन-सहन सभी स्मार्ट हो, तभी हमारा शहर स्मार्ट बन सकता है.इस दौरान उन्होंने भोपाल को एक खूबसूरत शहर बताया.

स्मार्ट सिटी प्रकृतिजन्य सुंदर शहर के बीच भोपाल की शान होगी और शहर का गौरव बढ़ाएगी.
उमाशंकर गुप्ता, राजस्व मंत्री

भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखकर स्मार्ट सिटी के विकास का रोडमैप बनाया गया है.
आलोक शर्मा, महापौर

स्मार्ट सिटी की नौ परियोजनाएं पूरी हो गई हैं और 22 भविष्य में पूरी हो जाएँगी. इन्क्यूबेशन केन्द्र और एकीकृत कंट्रोल एन्ड कमांड सेंटर स्मार्ट सिटी का मुख्य आकर्षण होंगे. एकीकृत कंट्रोल एन्ड कमांड सेंटर पर एक ही जगह सभी डिजिटल सुविधाएं उपलब्ध होंगी जिससे शहर के यातायात पर निगरानी रखी जा सकती है.
सुदाम खाड़े, कलेक्टर और स्मार्ट सिटी कार्पोरेशन के अध्यक्ष

 

Related Posts:

विकास में मध्यप्रदेश सबसे पिछड़ा राज्य: गौर
बारदानों की किल्लत सोची समझी रणनीति: भूरिया
माहेश्वरी परिवारों का होली मिलन समारोह सम्पन्न
लघु उद्यमियों को घर बैठे मिले 80 विदेशी खरीददार
इज्तिमा स्थल का अवलोकन : व्यवस्थाओं में हरसंभव मदद करेंगे
मासूम को बनाया हवस का शिकार, अवधपुरी में 10 वर्षीय बच्ची के साथ रेप, तीन संदिग्ध...