नयी दिल्ली,

क्रिकेट के लीजेंड सचिन तेंदुलकर के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के चार साल बाद उनकी 10 नंबर की जर्सी भी रिटायर हो गयी है जिसे पहनकर वह आखिरी बार मार्च 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ खेले थे।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई ) ने भारत रत्न सचिन के जर्सी नंबर-10 को अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए रिटायर करने का फैसला किया है।इस फैसले के मुताबिक अब टीम के किसी दूसरे खिलाड़ी को इस नंबर की जर्सी नहीं दी जाएगी।सचिन ने आखिरी बार मार्च 2012 में यह जर्सी पहनी थी।तब उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ अपना आखिरी वनडे मैच खेला था।

काफी समय से यह चर्चा चल रही थी कि सचिन के सम्मान में इस जर्सी को रिटायर किया जाए।इसी साल अगस्त में श्रीलंका के खिलाफ तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर 10 नंबर की जर्सी पहनकर मैदान पर उतरे थे जिसके बाद में उन्हें खेल प्रेमियों का कड़ा विरोध झेलना पड़ा था।

क्रिकेट बोर्ड ने उस घटना के लगभग चार महीने बाद सचिन की 10 नंबर जर्सी को रिटायर करने का फैसला कर लिया है।इस घोषणा के बाद अब इस नंबर के साथ कोई भी भारतीय खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय मैच में मैदान पर नहीं उतरेगा।

क्रिकेट इतिहास में ‘10’ को एक प्रतिष्ठित नंबर माना जाता है क्योंकि सचिन ने इस नंबर की जर्सी पहने कितने ही रेकॉर्ड बनाए।साल 2013 में सचिन ने इस खेल को अलविदा कह दिया था।सचिन 10 के अलावा 33 और 99 नंबर की जर्सी में भी मैदान पर नजर आ चुके हैं।

वैसे आईसीसी के दिशा-निर्देशों के मुताबिक किसी एक नंबर को रिटायर करने की अनुमति नहीं है और क्रिकेट की वैश्विक संस्था से ऐसा करने को लेकर अनुमति लेने का भी कोई प्रावधान नहीं है।

इसके चलते बीसीसीआई गैर-आधिकारिक तौर पर इस नंबर की जर्सी को रिटायर करेगा।ऐसे में टीम सदस्यों को अनौपचारिक तौर पर कह दिया गया है कि अंतरराष्ट्रीय मैचों में इस नंबर की जर्सी नहीं पहनी जाए।

Related Posts: