ज्योति टॉकीज चौराहे पर जलाया पुतला

नवभारत न्यूज भोपाल,

देशभर में चल रहे फिल्म ‘पद्मावत’ के विरोध का असर राजधानी में भी नजर आया. रायल क्षत्रिय समाज ने कई संगठनों के साथ ज्योति टॉकीज पर फिल्म बनाने वाले भंसाली का पुतला फूंका एवं मुख्यमंत्री से मांग करते हुये कहा कि इस फिल्म का प्रदर्शन तत्काल प्रतिबंधित किया जाये.

राजधानी के एम.पी. नगर चौराहे स्थित ज्योति टॉकीज पर करणी सेना के नेतृत्व में ‘पद्मावत’ फिल्म का विरोध किया गया, जहां कार्यकर्ताओं ने फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली का पुतला फूंका और जमकर नारेबाजी की. उन्होंने फिल्म के पोस्टर की भी यहां होली जलाई.

करणी सेना के लोगों का कहना है कि ‘पद्मावत’ फिल्म में मेवाड़ की रानी पद्मावती का गलत चित्रण किया गया है. रानी पद्मावती हिन्दू राजपूत समाज का गौरव है. हम ‘पद्मावत’ फिल्म को सिनेमा घरों में रिलीज नहीं होने देंगे.

मुख्यमंत्री से नहीं मिल पाये सिनेमा घर संचालक

फिल्म ‘पद्मावत’ की रिलीज को लेकर प्रदेश में असमंजस्य की स्थिति है. मुख्यमंत्री शिवराज ङ्क्षसह चौहान स्वयं राजपूत समाज के कार्यक्रम में फिल्म के प्रदर्शित न कराने का वादा कर चुके हैं. पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद फिल्म प्रदर्शित करानी होगी.

राजपूत समाज के संगठन सिनेमा घर संचालकों को पूर्व में फिल्म रिलीज न करने का ज्ञापन सौंप चुके हैं. ऐसी स्थिति में फिल्म की रिलीज को लेकर सिनेमा घर मालिकों में डर की स्थिति बनी हुई है. सिनेमा घर संचालक एसोसिएशन के महासचिव मो. अजीजुद्दीन ने बताया कि हमने फिल्म ‘पद्मावत’ की रिलीज को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज ङ्क्षसह चौहान से समय मांगा था.

उन्होंने एमव्हीएम में दीनदयाल सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता के बाद मिलने का समय दिया था, पर वह कार्यक्रम के बाद जबलपुर चले गये. मो. अजीजुद्दीन ने बताया कि सिनेमा घरों में अभी फिल्म रिलीज नहीं हुई है, रिलीज के बादï ही फिल्म के प्रति दर्शकों का रवैया पता चलेगा.

वितरकों ने सिनेमा घरों से नहीं साधा संपर्क

‘पद्मावत’ फिल्म बड़े पैमाने पर रिलीज होनी है. फिल्म के डिस्ट्रीब्यूशन का काम वाईकॉम 18 मोशन पिक्चर कम्पनी कर रही है, जिसके प्रदेश में इन्दौर और भोपाल में वितरक मौजूद हैं पर फिल्म ‘पद्मावत’ के वितरण को लेकर वितरकों ने अभी तक सिनेमा घरों से संपर्क नहीं साधा है. जबकि फिल्म की रिलीज की तारीख से दो माह पूर्व ही वितरक सिनेमा घरों से संपर्क साधना प्रारंभ कर देते हैं पर ‘पद्मावत’ फिल्म के प्रति वितरकों ने मैदानी पैठ नहीं की है.

हम राजपूत समाज की गौरव रानी पद्मावती के सम्मान को ठेस पहुंचाती फिल्म ‘पद्मावत’ को प्रदेश के सिनेमा घरों में रिलीज नहीं होने देंगे.
राकेश ङ्क्षसह राजपूत, संयोजक करणी सेना

हिन्दू त्यौहारों, धर्म और ऐतिहासिक पात्रों का मजाक उड़ाती फिल्म बनाना बॉलीवुड की प्रथा बन गई है. ऐसी फिल्में यदि बच्चे देखेंगे तो वह गलत इतिहास से परिचित होंगे.
चंद्रशेखर तिवारी, संयोजक हिन्दू जागरण मंच