नयी दिल्ली,

भारतीय समाज को बीमित और पेंशनभोगी बनाने पर जोर देते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज कहा कि सरकार ने इस दिशा में शुरूआती कदम उठाए हैं लेेकिन इसके लिए अभी बहुत कुछ करने की जरुरत है।

श्री जेटली ने पेंशन कोष एवं विकास प्राधिकरण के चौथे वार्षिक सम्मेलन के दौरान में ‘पेंशन संचय’ बेवसाइट का लोर्कापण करने के बाद कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से विकसित देशों की श्रेणी में शामिल होने की दिशा में बढ़ रही है। इसी के अनुरूप भारतीय समाज के ढ़ांचे में भी बदलाव हो रहा है।

उन्होेंने कहा कि परंपरागत रुप से भारतीय समाज में वरिष्ठ नागरिक अपने परिवार के साथ रहते हैं और यह अादर्श स्थिति है लेकिन मौजूदा समय में रोजगार के लिए लोग अपने पैतृक स्थानों दूर हो रहे है।

कुछ लोगों तो विदेशों में काम रहे हैं। इससे परिवार की अवधारणा और ढ़ांचा दोनों में बदलाव आया है। इससे वरिष्ठ नागरिकों के जीवनयापन की चुनौतियां पैदा हुई है और पेंशन प्राधिकरणों और नियामकों के समक्ष चुनौती है।

Related Posts: