नवभारत न्यूज भोपाल,

बरकतउल्ला विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह 24 फरवरी को होने जा रहा है. जिसके असर गुरुवार से प्रारंभ हुए छात्र समाधान शिविर पर पड़ा है, जिसमें अधिकारियों और छात्रों दोनो का ही रूझान कम दिखाई दिया है.

यह शिविर 22, 23 और 24 फरवरी को लगाया जाना है, पहले दिन 50 के लगभग छात्रों ने इसमेें सहभागिता की. जिसमें छात्रों की समस्या अंकसूची , माइग्रेशन त्रुटि सुघार संबंधी आवेदकों की संख्या अधिक रही. सुबह 11 बजे से 5 बजे तक चले इस शिविर में छात्रों की तादाद काफी कम रही है. दरअसल उच्च शिक्षा विभाग ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों को इन तीन दिनों तक समाधान शिविर लगाने को कहा है.

24 को संस्थान का दीक्षांत समारोह आयोजित होने जा रहा है, जिस कारण सभी अधिकारी तैयारियों में लगे है, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के शामिल होने के कारण यह आयोजन संस्थान की प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गया है, इसी कारण लंबे समय से आंदोलन कर रहे कर्मचारियों की मांगों पर प्रशासन ने संझान में लेकर गतिविधी को शांत करवाया है.

इस बार पहली मर्तबा बीयू में उपाधि धारक भारतीय परिधान में उपाधि लेते नजर आयेगे. इससे पहले गाउन पहनकर ही डिग्री ली जाती थी. यह प्रयोग बीयू में पहली बार होने जा रहे है. 24 फरवरी को बीयू के ज्ञान विज्ञान भवन में भारतीय परिधान में उपाधिधारक शामिल होगे.

बरकतउल्ला विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह 24 फरवरी को आयोजित हो रहा है. इस बार पहली दफा भारतीय परिधान कुर्ते पजामा और साड़ी में उपाधिधारक शामिल होगे. शासन के आदेश का पालन कर नियमित समाधान शिविर में छात्रों की समस्या को हल किया जा रहा है.
-वेद व्रत सिंह जनसंपर्क अधिकारी बीयू

Related Posts: