25congressभोपाल, 25 फरवरी,नभासं. राज्य विधानसभा में वर्ष 2015-16 का बजट पेश होने से पहले सदन के बाहर व्यापमं घोटाले से जुड़ा मुद्दा सरगर्म रहा. सदन की कार्रवाई शुरू होने और विधानसभा में आगामी वित्त वर्ष के लिए बजट रखे जाने से पहले कांग्रेस सदस्यों ने इसे जोरदार ढंग से उठाया. वे इस मामले में शिवराज और उनके परिवार के शरीक होने का आरोप लगा रहे थे.

उन्होंने पहले सदन के बाहर महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास आंशिक धरना देते हुए उनका इस्तीफा मांगा. इस दौरान नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे सहित अन्य नेताओं ने मुख्यमंत्री और भाजपा सरकार के भ्रष्टाचार में संलिप्त होने के आरोप लगाते हुए नारेबाजी की. कांग्रेस नेताओं का कहना था कि एसटीएफ व्यापमं घोटाले में मुख्यमंत्री और उनके परिवार को बचा रही है. यह प्रदेश की आम जनता के साथ अन्याय है, राज्य में हुए इस महा घोटाले के लिए सीएम और उनके मंत्री जिम्मेदार हैं. आंशिक धरने के दौरान कांग्रेसियों ने पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है.

Related Posts: