sensexमुंबई,   सुस्त दिख रहे घरेलू बाजारों में आज कारोबारी सत्र के आखिरी घंटे के दौरान अचानक से गिरावट गहराती नजर आई। दरअसल यूरोपीय बाजारों की कमजोर शुरुआत और एशियाई बाजारों में कमजोरी से घरेलू बाजारों में गिरावट बढ़ी है। साथ ही कच्चे तेल में गिरावट जारी रहने से भी बाजार पर दबाव बढ़ा है।
वहीं खाड़ी देशों में तनाव कायम रहने और उत्तर कोरिया ने भी परमाणु परीक्षण किया है, इससे एशियाई बाजारों पर देखने को मिला है और यही वजह रही है कि भारतीय बाजारों में भी गिरावट गहराई है। आज के कारोबार में सेंसेक्स 25,357.7 तक लुढ़क गया, तो निफ्टी ने 7,721.2 तक गोता लगाया। सेंसेक्स और निफ्टी 0.5 फीसदी गिरकर बंद हुए हैं।

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी बिकवाली देखने को मिली है। निफ्टी का मिडकैप 100 इंडेक्स 0.25 फीसदी की गिरावट के साथ 13,513.2 के स्तर पर बंद हुआ है। आज के कारोबार में निफ्टी का मिडकैप 100 इंडेक्स 11,640 के करीब तक पहुंचा था। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 0.4 फीसदी की कमजोरी के साथ 11,850 के स्तर पर बंद हुआ है। आज के कारोबार में बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 11,980 के ऊपर तक पहुंचा था।

बीएसई के एनर्जी और ऑयल एंड गैस इंडेक्स को छोड़ सभी सेक्टर इंडेक्स लाल निशान में बंद हुए हैं। बीएसई के एनर्जी इंडेक्स में 1.4 फीसदी और ऑयल एंड गैस इंडेक्स में 0.75 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है। हालांकि मेटल, एफएमसीजी और ऑटो शेयरों में सबसे ज्यादा बिकवाली देखने को मिली है।

Related Posts: