गूगल क्राउडसोर्सिंग पर विशेष सेमिनार का आयोजन

भोपाल,

राधारमण ग्रुप ऑफ इन्स्टीट्यूट्स भी अब गूगल के क्राउडसोर्स कैंपेन से जुड़ गया है. राधारमण के परिसर में आज गूगल क्राउडसोर्सिंग पर विशेष सेमिनार आयोजित हुआ, जिसके अंतर्गत क्राउडसोर्स ऐप का प्रेजेंटेशन दिया गया.

गूगल क्राउडसोर्स की कम्युनिटी मैनेजर्स वर्षा नगेले और कस्तूरी बरुआ ने सेमिनार को संबोधित करते हुए 800 स्टूडेंट्स को ऐप की बारीकियों से परिचित कराया. गूगल की टीम और प्रोफेसर्स की मौजूदगी में लगभग सभी स्टूडेंट्स ने अपने फोन में क्राउडसोर्स ऐप डाउनलोड किया और उसका इस्तेमाल करना भी सीखा.

वर्षा नगेले ने अपने वक्तव्य में कैंपेन की थीम मेक द इंटरनेट अ बेटर प्लेस पर प्रकाश डालते हुए बताया कि इस ऐप का उद्देश्य इंटरनेट पर दुनियाभर की जानकारियों को संगठित करना और इंटरनेट पर मौजूद कॉन्टेन्ट को सभी क्षेत्रों के यूजर्स के लिए सुलभ बनाना है.

वर्षा ने अपने संबोधन में आगे कहा कि भारतीय भाषाओं में इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले 70 प्रतिशत यूजर्स, इंग्लिश की बोर्ड का इस्तेमाल करने में सहज नहीं है, इसलिए गूगल की कोशिश है कि अब लोग अपनी भाषा में आसानी से इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकें. कार्यक्रम में मौजूद टीम की दूसरी सदस्या कस्तूरी बरुआ ने स्टूडेंट्स को इस ऐप के फीचर्स के बारे में विस्तार से समझाया.

उन्होंने बताया कि इस ऐप के माध्यम से यूजर्स के इंटरैक्टिव फीडबैक की बदौलत गूगल को अपनी सुविधाओं जैसे कि गूगल मैप, ट्रांसलेशन, इमेज ट्रांसक्रिप्शन आदि को बेहतर करने में मदद मिलेगी. साथ ही, उन्होंने जानकारी दी कि 90 प्रतिशत इंटरनेट सिर्फ 10 भाषाओं में है, जबकि 1.3 अरब आबादी वाले भारत में ही 30 भाषाएं बोली जाती हैं.भाषा की चुनौती और बाधा को खत्म करते हुए अब इंटरनेट की जानकारी को सभी के लिए आसान बनाया जाएगा.

Related Posts: