आईसेक्ट विश्वविद्यालय में शैक्षणिक कार्यक्रम का आयोजन

भोपाल,

आईसेक्ट विश्वविद्यालय के नर्सिंग एवं पैरामेडिकल विभाग द्वारा ”वृद्धावस्था में नर्सिंग तथा फिजियोथैरेपी का महत्व” विषय पर एक दिवसीय शैक्षणिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एवं वक्ता के रूप में डॉ. अतुलय सौरभ, सीनियर जैरियाट्रिशियन, डायरेक्टर, वरदान अस्तपाल, भोपाल ने छात्रों को इस विषय पर महत्वपूर्ण जानकारियां दी. डॉ. सौरभ ने छात्रों को वृद्धावस्था से जुड़ी अनेक समस्याएं उनके लक्षण तथा इलाज के बारे में विस्तारपूर्वक अवगत कराया.

उन्होंने बताया कि वृद्धावस्था से जुड़ी समस्याओं के उपचार में फिजियोथैरेपी और नर्सिंग का अहम योगदान है. वृद्धावस्था में होने वाली मुख्य समस्याएं जैसे ओसटियो आर्थराइटिस, ओसटियोपोरोसिस, डाइबिटिस, पारकिंसस इत्यादि हैं.

इस सभी बीमारियों के इलाज में मरीज तथा उसके परिजनों के सहयोग का विशेष महत्व है. इस विषय पर छात्रों ने भी अपनी जिज्ञासा से परिपूर्ण प्रश्नों की डॉ. सौरभ से जानकारी प्राप्त की.

इस अवसर पर आईसेक्ट विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. विजय सिंह, सीआरजी के संयोजक प्रो. विजय कांत वर्मा एवं डॉ. संजीव गुप्ता विषेष रूप से उपस्थित थे. उन्होंने विद्यार्थियों को परिवार व वृद्धावस्था का महत्व एवं नये जमाने में सामूहिक परिवार की उपयोगिता का महत्व बताया.

Related Posts: