पेंशन व चुनाव लडऩे की मांग

धर्मेन्द्र पाण्डेय
मण्डला,

मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार द्वारा राज्य मंत्री का दर्जा दिए जाने के बाद कंप्यूटर बाबा और पंडित योगेंद्र महंत पहली बार मण्डला पहुंचे. कंप्यूटर बाबा और पंडित योगेंद्र महंत संगम घाट में आयोजित एक कार्यक्रम को सम्बोंधित किया और वहाँ पर वृक्षारोपण किया.

पत्रकारों से बात करते हुए कंप्यूटर बाबा ने कहा कि हम प्रदेश सरकार को साधू संतों और हिन्दुओं की सरकार मानते है. हम नर्मदा सेवा के लिए निकले है. हम चाहते है कि नर्मदा स्वच्छ और साफ़ रहे. नर्मदा के दोनों तटों पर पेड़ लगाऐ जाये .

आम तौर पर किसी भी साधू- संत और प्रदेश सरकार के कोई भी मंत्री के मंडला पहुँचने पर भाजपा कार्यकर्ताओं का मेला लगा रहता है लेकिन कंप्यूटर बाबा की अगवानी के लिए भाजपा का कोई कार्यकत्र्ता भी नहीं पहुंचा. इस बारे में जब कंप्यूटर बाबा से सवाल पूंछा गया तो उन्होंने कहा कि वे सरकार का हिस्सा है भाजपा पार्टी का नहीं.

उन्होंने कहा कि राज्य मंत्री का दर्जा मिलने से वो सरकार में शामिल हुए है पार्टी में नहीं.इससे कोई फक़ऱ् नहीं पड़ता कि कोई आता है या नहीं. बाबा ने प्रदेश सरकार की तारीफ करते हुए मांग कर डाली की न केवल प्रदेश के साधु-संतों को उनके काबिज स्थानों का पट्टा दिया जाये बल्कि उन्हें पेंशन भी दी जाये .

और तो और कम्प्यूटर बाबा ने मण्डला संसदीय क्षेत्र के केवलारी विधानसभा से आने वाले चुनाव में जिले की बिछिया विधानसभा के खड़ेश्वरी बाबा को पार्टी से टिकट दिलाने की मांग कर डाली. बाबा ने कहा कि सिर्फ नर्मदा ही नही प्रदेश की बाकी नदियों का भी ध्यान रखा जाएगा .

प्रदेश सरकार को ब्लैकमेल कर उपकृत होने के हर सवाल को टालते हुए बाबा ने जंहा शिवराज सिंह को संत और प्रदेश हितेषी मुख्यमंत्री बताया बल्कि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को भी नर्मदा भक्त कहा. जंहा बाबा प्रदेश सरकार का गुणगान करते नजर आए वंही राज्यमंत्री दर्जा पाकर प्रसन्न दिखे.

Related Posts: