विश्वविद्यालय से देर से आया फरमान

भोपाल,

माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय में आयोजित सांस्कृतिक एवं खेलकूद प्रतियोगिता प्रतिभा की तारीखे बढ़ा दी गई है. विश्वविद्यालय के कुलसचिव संजय द्विवेदी के द्वारा जारी किए गए आदेश में 20 मार्च से 28 मार्च तक यह प्रतियोगिता आयोजित की जायेगी.

जबकि विश्वविद्यालय के अकादमिक कलैण्डर में 10 मार्च से यह प्रतियोगिता आयोजित होनी थी. जिस कारण विभागों में 26 फरवरी से ही तात्कालिक भाषण, संवाद चर्चा, स्वरचित काव्य पाठ एवं शतरंज, कैरम आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन कर विजेताओं का चयन पूर्व में ही किया जा चूका है,जो कि विश्वविद्यालय स्तर पर इसमें शामिल होगे, यानि प्रथम चरण की प्रतियोगिता समपन्न होने के बाद दूसरे चरण की विश्वविद्यलय स्तर की तारिखों में फेरबदल किया गया है.

प्रतिभा नाम से आयोजित इस प्रतियोगिता की तारीखे 10 दिन आगे बढऩे से छात्रों की पढ़ाई का नुकसान होगा. जिससे 20 दिन छात्रों की पढ़ाई प्रभावित होगी. जब विवि प्रशासन से इस विषय में बात की गई, तो उनका कहना था, कि हमारे विश्वविद्यालय में यूपी एवं बिहार के छात्र भी अध्ययनरत है, जो कि होली की छुट्टी पर घर गए हुए है, वह प्रतियोगिता में भागीदारी कर सके इसीलिए प्रतियोगिता की तारीखे बढ़ा दी गई है.

पहले ही नहीं हुए शामिल

विश्वविद्यालय में होली का अवकाश 1 मार्च से 6 मार्च तक घोषित है जिन छात्रों को होली के अवकाश पर घर जाना था, उन्होने विभागों में हुई प्रतियोगिताओं में हिस्सा ही नहीं लिया.

जब वह प्रतियोगिता में शामिल ही नहीं हुए फिर तारीखे आगे बढ़ाकर विश्वविद्यालय अपनी हो चूकी गलती को सुधारने की कोशिस करता दिख रहा है, वही दूसरी तरफ प्रतियोगिता में चयनित विद्यार्थी होली के अवकाश पर घर ही नहीं जा पाए क्योकि 24 घंटे तो दूर के छात्रों को घर जाने में ही लग जाता है, और भोपाल से पटना के लिए एक ही ट्रेन है, जो कि सप्ताह में एक दिन ही चलती है. इसलिए देर से नयी तारीखे जारी होने के कारण छात्र होली पर घर से दूर रहने को मजबूर हुए है.

 

Related Posts: