सेना ने लिया लेफ्टिनेंट उमर की हत्या का बदला, एक आतंकी को जिंदा पकड़ा

     खास बातें

  • मारे गए आतंकियों में से 2 उमर फयाज की हत्या में शामिल थे
  • एनकाउंटर में मारे गए सभी आतंकी स्थानीय
  • चार पत्थरबाज भी मारे गए
  • अनंतनाग, शोपियां सहित तीन जगह हुई मुठभेड़
  • शोपियां में बड़े पैमाने पर पत्थरबाजी, रेल व इंटरनेट बंद

प्रेस कांफ्रेंस में सैन्य प्रवक्ता और डीजीपी एसपी वैद .

श्रीनगर,

दक्षिण कश्मीर के शोपियां और अनंतनाग जिलों में सेना ने आतंकियों के खिलाफ एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए 13 दहशतगर्दों को मार गिराया है.

इसके अलावा एक आतंकी को अनंतनाग से जिंदा पकड़ा गया है. मारे गए दहशतगर्दों में से दो लोगों के लेफ्टिनेंट उमर फयाज हत्याकांड में शामिल रहे होने की पुष्टि की गई है. वहीं आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान कश्मीर में भारी हिंसक प्रदर्शन हुए हैं जिनमें शोपियां के 4 स्थानीय नागरिकों की मौत हुई है, जबकि 50 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं.

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद के मुताबिक शोपियां और अनंतनाग में आतंकियों के खिलाफ सेना का ऑपरेशन खत्म हो गया है, जिसके बाद 13 आतंकियों की मौत की पुष्टि हुई है. सेना के इस ऑपरेशन के दौरान आतंकियों से लोहा लेते गनर अरविन्दर कुमार, नीलेश सिंह और सिपाही हेतराम नाम के तीन जवान शहीद हुए हैं.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक सेना की राष्ट्रीय राइफल्स को शनिवार देर रात दक्षिण कश्मीर के तीन अलग अलग गांवों में आतंकियों की मौजूदगी के इनपुट मिले थे.

मिलिट्री इंटेलिजेंस की इस सूचना पर सेना की 44 राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू-कश्मीर की एसओजी और सीआरपीएफ द्वारा शोपियां जिले के द्रागड़ व कचदूरा और अनंतनाग के दियालगम इलाके में सर्च ऑपरेशन शुरू किया. इसी बीच शोपियां के दोनों गांवों में छिपे आतंकियों ने सख्त घेराबंदी के बीच खुद को घिरता देख सेना पर गोलीबारी शुरू कर दी.

इसके बाद एसओजी और सीआरपीएफ की सख्त घेराबंदी के बीच सेना ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन शुरू किया. आतंकियों से इस मुठभेड़ के कुछ देर बाद अनंतनाग के दियालगाम में भी सेना ने दो आतंकवादियों को घेरा. इसके बाद दोनों स्थानों पर सेना की कार्रवाई दोपहर तक जारी रही. इस दौरान सेना ने काफी देर तक आतंकियों की फायरिंग के बीच रॉकेट लांचर से उनके घर को भी उड़ा दिया.

सेना के इस ऑपरेशन के दौरान शोपियां के द्रागड़ में 8 आतंकी, कचडूरा में 4 और अनंतनाग के दियालगाम 1 आतंकी मार गिराया गया. इस ऑपरेशन के दौरान जानकारी देते हुए सेना की 16वीं कोर के प्रमुख एके भट ने कहा कि मारे गए आतंकियों में दो दहशतगर्द सेना के लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या की साजिश में भी शामिल थे, जिन्हें सैन्य कार्रवाई में मार गिराया गया.

वहीं शोपियां में मुठभेड़ के बीच भारी हिंसक प्रदर्शन भी हुए जिनमें 4 स्थानीय लोगों की मौत हो हुई. हिंसा की इन घटनाओं में 50 से ज्यादा लोग घायल हुए जिनमें से 20 लोगों को इलाज के लिए श्रीनगर रेफर कर दिया गया. पत्थरबाजी की इन घटनाओं के बीच सुरक्षा एजेंसियों ने इन इलाकों में जवानों की अतिरिक्त तैनाती की और सुरक्षा के लिहाज से इंटरनेट और रेल सेवाओं भी बंद करा दिया.

सेना पर पथराव

बताया जा रहा है कि आतंकवादियों को मार गिराए जाने के बाद इलाके में तनाव व्याप्त हो गया और सुरक्षा बलों और नागरिकों के बीच संघर्ष शुरू हो गया. पुलिस ने कहा कि द्रगड़, कचदूरा और सुगान गांवों में प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षा बलों पर पथराव किया जिसके बाद सुरक्षा बलों ने आंसू गैस के गोले फेंके और पैलेट गन का इस्तेमाल किया.

शोपियां जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने कहा कि इतने ज्यादा मरीजों का एक साथ इलाज करने में सक्षम न होने के कारण उन्होंने 20 मरीजों को श्रीनगर अस्पताल रेफर कर दिया है. आंतकियों की मौत की खबर फैलने के बाद शोपियां, अनंतनाग, कुलगाम और पुलवामा में तनाव व्याप्त हो गया.

Related Posts: