सुपरस्टार आमिर खान के बहुचर्चित टीवी शो सत्यमेव जयते की शानदार शुरुआत ने राष्ट्रीय महिला आयोग को उनका मुरीद बना दिया है. आयोग आमिर को महिला अधिकार संबंधी अभियानों से जोडऩे की कोशिश कर रहा है.

आयोग की अध्यक्ष ममता शर्मा ने कहा, हम आमिर के शुक्रगुजार हैं कि उन्होंने इस तरह  के कार्यक्रम को चुना. इसके पहले ही भाग को हर ओर से सकारात्मक प्रतिक्रिया मिल रही है. इसीलिए हमने आमिर को आयोग के महिला अधिकार संबंधी अभियानों से जोडऩे की योजना बनाई है.

उन्होंने कहा कि आयोग की ओर से आमिर को कई बार फोन भी किया गया लेकिन अभी उनसे इस संबंध में बात नहीं हुई है लेकिन आमिर की पत्नी किरन राव से इस बारे में बात हुई है. आयोग महिला अधिकारों और उनके हितों से जुड़े कई तरह के जागरुकता अभियान चलाता है जिसमें कन्या भ्रूणहत्या, दहेज, बाल कुपोषण जैसे कई विषय शामिल हैं. हिंदी फिल्म जगत में मिस्टर परफेक्शनिस्ट के नाम से मशहूर अभिनेता आमिर खान के पहले टीवी शो सत्यमेव जयते को दर्शकों का जबर्दस्त समर्थन मिल रहा है और एक सप्ताह के अंदर ही यह टीवी शो सोशल नेटवर्किग वेबसाइटों पर छा गया है.

दुनिया की सबसे लोकप्रिय सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक पर सत्यमेव जयते के पेज को 747,572 लोगों ने अब तक लाइक किया है और 356,838 लोग इस शो की चर्चा कर रहे हैं. प्रत्येक रविवार को सुबह 11 बजे प्रसारित हो रहे इस टीवी शो की लोकप्रियता का आलम यह है कि बच्चे, बूढ़े, जवान सभी इस शो को न केवल देख रहे हैं बल्कि आमिर खान द्वारा उठाए गए मुद्दों पर चर्चा कर रहे हैं. चुप्पी तोड़ो के नारे के साथ बाल यौन शोषण पर दिखाए गए शो को अब तक 3504 लोगों ने फेसबुक पर लाइक किया है और 353 लोगों ने इस शो पर अपनी टिप्पणियां दी हैं. गत छह मई को दिखाए गए इस शो के पहले एपिसोड में आमिर खान ने कन्या भू्रण हत्या के मुद्दे को जोरशोर तरीके से उठाया था. इस शो को अबतक फेसबुक पर 14930 लोगों ने लाइक किया है और 1450 लोगों ने टिप्पणी की है.

जन अभिव्यक्ति का सशक्त मंच बन चुकी माइक्रो ब्लागिंग वेबसाइट ट्विटर पर आमिर खान द्वारा उठाए गए मुद्दों की जबर्दस्त चर्चा है. ट्विटर पर आज भारत में जिन विषयों की सबसे ज्यादा चर्चा है उसमें सत्यमेव जयते में  दिखाया गया बाल यौन शोषण का मुद्दा सबसे उपर रहा. इसके अलावा इस एपिसोड का गीत हौले हौले पांचवें नंबर पर है. ट्विटर पर सत्यमेव जयते के 21790 फालोवर हैं. आमिर ने सत्यमेव जयते के दूसरे एपिसोड में बालयौन शोषण का मुद्दा उठाते हुए कहा कि बालयौन शोषण एक डरावनी वास्तविकता है. और शोध बताते हैं कि करीब 53 प्रतिशत बच्चे या दो में से एक बच्चा बाल यौन शोषण का शिकार रहा है.

Related Posts: