नई दिल्ली, 22 मई. कांग्रेस नेतृत्व वाली यूपीए-2 सरकार मंगलवार को तीन साल पूरे कर रही है. भ्रष्टाचार को लेकर सरकार पर चौतरफा दबाव है. इस बीच आज कांग्रेस की बैठक में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि अगर कोई भ्रष्टाचार में लिप्त पाया गया तो उसे बख्शा नहीं जाएगा.

सोनिया को यह कहने की जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि एक सर्वे में यह बात सामने आई है कि अगर अभी चुनाव हुए तो कांग्रेस को घोटालों एवं भ्रष्टाचार का खामियाजा भुगतना होगा. सर्वे में यह बात भी सामने आई कि देश के वोटरों का बहुमत यानी 57 फीसद जनता मौजूदा यूपीए-2 सरकार को आजाद भारत की सबसे भ्रष्ट सरकार मानती है. सोनिया गांधी ने कांग्रेस सांसदों को संबोधित करते हुए कहा यह पार्टी की जिम्मेदारी है कि जो भ्रष्टाचार को पार्टी या सरकार में बढावा दे तो उसे सजा दी जाए. सोनिया ने कहा कि पार्टी को आगामी 2014 के आम चुनावों के लिए एकजुट हो जाना चाहिए.

हालांकि, मनमोहन सिंह के नेतृत्व में तीसरा साल पूरा करने वाली यूपीए-2 सरकार पार्टी के लिए बहुत उम्मीदों से भरा हुआ नहीं है, क्योंकि सरकार और कांग्रेस के सामने अनेक घोटाले हैं जिससे पार्टी और सरकार की किरकिरी हो रही है. उन्होंने कहा वे सांसदों को लालबत्ती का वाहन देने के पक्ष में नहीं है.

Related Posts: