विश्व एड्स दिवस पर विशेषज्ञों ने रखे अपने मत

भोपाल,1 दिसंबर.नभासं.राजधानी के आंचलिक विज्ञान केन्द्र में विश्व एड्स दिवस पर व्याख्यान माला का आयोजन किया गया. जिसमें विश्व को एचआईवी वायरस से मुक्त करने पर विचार-विमर्श किया गया. साथ ही एड्स के प्रति लोगों में जागरूकता लाने की अपील की.

कार्यक्रम में डॉ. यू एस शर्मा मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित रहे. कार्यक्रम में अपने विचार रखते हुए डॉ. यू एस शर्मा ने कहा कि आज भी विश्व में तकरीबन २७ लाख एड्स पीडि़त हैं हमारा उद्देश्य विश्व को एचआईवी वायरस से मुक्त कराना है. एड्स एक जानलेवा बिमारी है. यह दवाईयों से ठीक नहीं होती . इससे बचाव का एकमात्र तरीका जागरूकता है. इसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सुरक्षा उपकरण अपनाकर इसे दूर किया जा सकता है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि लोगों में एड्स को लेकर एक गलत जानकारी है कि यह छूआछूत से फैलता है जबकि यह दो लोगों के परस्पर संसर्ग या असुरक्षित तरीके से चढ़ाए गए रक्त के कारण होता है. यदि अपनी आने वाली पीढिय़ों का भविष्य सुरक्षित रखना है तो एड्स के प्रति उनमें जागरूकता हर हाल में पैदा करनी होगी. कार्यक्रम में आंचलिक विज्ञान केन्द्र के शिक्षा अधिकारी एम.एम.राउत, क्यूरेटर एम. के. बालाजी सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे.

Related Posts: