भोपाल, 26 मई. आईएएस आफीसर्स वाइव्स एसोसियेशन द्वारा स्थापित कंप्यूटर पाठशाला में कंप्यूटर प्रशिक्षित गरीब परिवारों के बच्चों को आज एक सादे समारोह में पुरस्कार दिये गये. इन बच्चों को डीसीए और डाटा एन्ट्री आपरेटर पाठयक्रम का प्रशिक्षण एसोसियेशन द्वारा सेडमेप के माध्यम से दिलवाया गया. अभी तक एसोसियेशन द्वारा 250 बच्चों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया है. इनमे से 150 बच्चों को रोजगार भी मिल गया है.

एसोसियेशन की अध्यक्ष मंजू रावत और अन्य पदाधिकारियों ने प्रशिक्षित बच्चों को प्रमाण पत्र तथा पुरस्कार के रुप में  सामान्य ज्ञान की  पुस्तकें भेंट की. इस अवसर पर श्रीमति रावत को एसोसियेशन के पदाधिकारियों ने भावभीनी विदाई दी. एसोसियेशन द्वारा कंप्यूटर पाठशाला की स्थापना 2006 में की गई थी. इसमें 4 बैचों में उन बच्चों को कंप्यूटर प्रशिक्षण दिया जाता है, जिनके माता पिता प्रशिक्षण का खर्च वहन नहीं कर सकते. वर्तमान में एक वर्ष में 60 बच्चों को प्रशिक्षण देने की व्यवस्था है. आज के कार्यक्रम में वर्ष 2011 में प्रशिक्षित बच्चों को पुरस्कार दिये गये. अध्यक्ष श्रीमति रावत ने बताया कि इस पाठशाला में प्रवेश के लिए लड़कों की अधिकतम आयु सीमा 18 वर्ष तथा लड़कियों की 21 वर्ष है.

उन्होने बच्चों को पुरस्कार देते हुए उनकी लगन और मेहनत की सराहना की और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की. कार्यक्रम में बताया गया कि आईसीआईसीआई बैंक ने इन बच्चों को अंशकालीन प्रशिक्षण देने का प्रस्ताव रखा है. प्रशिक्षण के दौरान बैंक उन्हे पैसा भी दिया जाएगा. इस अवसर पर एसोसियेशन की सचिव श्रीमति सीमा परिहार तथा अन्य पदाधिकारी श्रीमति नजब खान, वंदिता श्रीवास्तव, ममता मिश्रा, साधना उपाध्याय, संस्था की संस्थापक सीमा रायजादा तथा अन्य सदस्य उपस्थित थे.

Related Posts: