लिंक रोड नंबर-1 बोर्ड ऑफिस के निकट स्थित आईसीआईसीआई बैंक को बनाया निशाना

सीसी कैमरा क्षतिग्रस्त कर 7 लाख से अधिक रकम लूट ले भागे

भोपाल, 12 सितंबर,  एमपी नगर थाना क्षेत्र लिंक रोड नंबर-1 बोर्ड ऑफिस के निकट स्थित आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम के सीसीटीवी कैमरे को क्षतिग्रस्त करने के उपरांत मशीन के बॉक्स को कटर से काटकर वहां रखे 7 लाख 61 हजार 800 रुपये लूटकर लुटेरे फरार हो गये.

एमपी नगर थाना पुलिस के मुताबिक फरियादी शैलेंद्र रघुवंशी जो कि बैंक के एटीएम प्रभारी हैं, उन्हें मुंबई बैंक कार्यालय से फोन पर सूचना मिली कि बैंक का एटीएम बोर्ड ऑफिस वाला काम नहीं कर रहा है, इस बात की वस्तुस्थिति से अवगत कराया. सूचना पाते ही शैलेंद्र उक्त एटीएम पर पहुचे और देखा कि एटीएम में लगे सीसीटीवी कैमरा क्षतिग्रस्त है.

इसके अलावा एटीएम मशीन के बॉक्स को कटर की मदद से काटकर वहां रखे 7 लाख 61 हजार 800 रुपये लूटकर अज्ञात लुटेरे भाग गये. इस वारदात को अंजाम लुटेरों ने रविवार रात्रि 12 बजे से लेकर सुबह 6 बजे के बीच दिया था. चौकाने वाली बात यह है कि एटीएम में लाखों रुपये रखे होने के बावजूद वहां रात्रि में चौकीदार तैनात नहीं था. इस बात को लेकर पुलिस को लूट पर शंका हो रही है.

इस घटना की फरियादी शैलेंद्र रघुवंशी की शिकायत पर थाना पुलिस ने अज्ञात लुटेरों के खिलाफ लूट का मामला दर्ज कर लिया है.साथ ही इस लूट की वारदात की जांच-पड़ताल के साथ ही फरार अज्ञात लुटरों की तलाश शुरू कर दी है. बैंक के एटीएम में लूट की एमपी नगर थाना क्षेत्र की पहली घटना है. वैसे तो शहर में एटीएम से रुपये निकालने व वहां पर धोखाधड़ी करने जैसी वारदातें कई बार घटित हो चुकी हैं.

एमपी नगर थाना क्षेत्र स्थित आईसीआईसीआई बैक के एटीएम से 7 लाख से अधिक रकम लूटने के लिये आरोपियों ने सर्वप्रथम एटीएम में लगे सीसीटीवी कैमरे का संबंध विच्छेद कर तोडफ़ोड़ दिया. इसके बाद एटीएम मशीन के बॉक्स को कटर से काटकर उक्त राशि लूटकर फरार हो गये. उक्त घटना के समय एटीएम पर चौकीदार नहीं होना पुलिस ने बताया है. इधर पुलिस वारदात का मौका-मुआयना करने पहुंची तो उसे एटीएम के सीसीटीवी कैमरा टूटा दिखाई दिया.

पुलिस ने इस लूट की जांच शुरू कर दी है. लेकिन वारदात के समय एटीएम पर चौकीदार की उपस्थिति न होने पर उक्त लूट पर कई अनसुलझे सवाल उठने लगे हैं. वहीं इस वारदात को अंजाम देने से पूर्व आरोपियों ने एटीएम की रैकी कुछ दिनों तक करने की आशंकाएं हो रही हैं. क्योंकि आरोपियों ने सबसे पहले एटीएम का सीसीटीवी कैमरा क्षतिग्रस्त किया. साथ ही ऐसा समय चुना जिस समय मार्ग पर आवाजाही न के बराबर हो. इस लूट के साक्षी कोई नहीं होने के कारण फिलहाल गुत्थी उलझी है.

Related Posts: