कांग्रेस किसानों की समस्याओं को लेकर आज करेगी आंदोलन, सिंधिया हाईकमान के सबसे नजदीकी नेता

भोपाल, 15 मई, नभासं. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया ने आज कहा कि किसानों की हितैषी व वफादार कांग्रेस पार्टी है न कि भाजपा. उन्होंने कहा कि प्रदेश में बारदानों की किल्लत सोची समझी रणनीति के अंतर्गत की गई है. ताकि इसका लाभ विचौलिए और माफिया किस्म के लोग उठा सकें.

भूरिया ने कहा कि कांग्रेस किसानों की खुदकुशी और उन्हें घंटों गेहूं बेचने के लिए सड़कों पर भूखा-प्यासा रहकर जो इंतजार करना पड़ रहा है उसके खिलाफ बुधवार को सड़क पर उतरकर धरना देगी. प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि वे स्वयं राजधानी भोपाल के समीप मिसरोद में धरने का नेतृत्व करेंगे. भूरिया आज पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे. मजबूरी में उसे दलालों को औन-पौने दामों पर बेचना पड़ रहा है, जो कि बाद में सरकारी खरीदी केन्द्रों पर महंगे दामों में बेचकर मुनाफा कमा रहे हैं. भूरिया ने कहा कि राज्य को केन्द्र से दो लाख उनहत्तर हजार बारदाने दिए थे. तीस हजार उसने खरीदे और चालीस हजार बारदाने 10 रूपए के हिसाब से खरीदे. उन्होंने कहा कि 40 लाख टन भंडारण क्षमता है जबकि इतना ही गेहूं पानी में खराब होने के लिए बाहर पड़ा हुआ है.

सिंधिया ही सही- जब पत्रकारों ने भूरिया से पूछा कि अजय सिंह कि जनचेतना यात्रा निजी हैसियत से होती जा रही या फिर पार्टी द्वारा प्रयोजित है तो उन्होंने कहा कि ये यात्रा हाईकमान की मंजूरी और पीसीसी के सहयोग पर हो रही है. जिसमें वे हर एक संभाग में दो से तीन दिन तक का समय देंगे. जब उनसे वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद के लिए  काग्रेस की ओर से किस नेता का नाम सामने आ रहा है तो उन्होंने कहा कि ये मसला पार्टी हाइकमान के अधिकार क्षेत्र का है. जब उनसे कहा गया कि जूनियर सिंधिया ने इंदौर में कहा था कि उनका सीएम प्रत्याशी भूरिया हैं तो उन्होंने सिंधियाजी हाईकमान के नजदीकी हैं इस लिए उनकी बात सच हो सकती है. इसी संदर्भ में जब उनसे पूछा गया कि  नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह जन चेतना यात्रा के दौरान सीएम के मसले पर कहते हैं कि ये पार्टी हाईकमान का विषय हैं, भूरिया ने कहा कि हाईकमान के नजदीक कौन हैं, सिंधिया या अजय सिंह. यह आप ही लोग तय करें वे तो यह मान रहे हैं कि केन्द्र में मंत्री और हाईकमान का नजदीकी होने के कारण सिंधिया की ही बात सही है. भूरिया ने कहा कि उन्होंने पार्टी दिग्गजों कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया व सुरेश पचौरी से राज्य में सक्रियता बढ़ाने और तूफानी दौरे का आग्रह किया है. ताकि राज्य में पार्टी कि सरकार बनाने में कोई कमी न रह जाए.

Related Posts: