आमंत्रित किये जायेंगे जन-प्रतिनिधि

भोपाल, 28 अगस्त नभासे. मध्यप्रदेश में पिछले चार साल में आँगनवाड़ी केन्द्र के 14 हजार नये भवन निर्मित हुए. वर्ष 2008 में आँगनवाड़ी केन्द्र भवनों की संख्या 18 हजार थी, जो अब बढ़कर 32 हजार हो गई है.

यह जानकारी महिला-बाल विकास राज्य मंत्री रंजना बघेल ने मंत्रालय में विभागीय परामर्शदात्री समिति की बैठक में दी. उन्होंने बताया कि मिनी आँगनवाड़ी केन्द्र सहित पूरे प्रदेश में 60 हजार अतिरिक्त भवन के निर्माण की आवश्यकता है, जिसके लिए 8 हजार करोड़ से अधिक राशि की आवश्यकता होगी. बघेल ने सदस्यों के सुझाव पर माह के प्रत्येक मंगलवार को आँगनवाड़ी केन्द्र में मनाए जाने वाले मंगल-दिवस में विधायकों तथा अन्य जन-प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित करने के निर्देश दिये.

उन्होंने कहा कि केन्द्रों में बच्चे जमीन पर नहीं बैठे, इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए. बच्चों के लिए टाटपट्टी या दरी की व्यवस्था की जाए. भोजन, नाश्ते के लिये प्रदाय किये गये बर्तनों का उपयोग केवल बच्चों के लिए ही हो.  बघेल ने लाड़ली लक्ष्मी योजना के बचत-पत्रों का वितरण जन-प्रतिनिधियों के माध्यम से करने को कहा.

Related Posts: