• अपूर्णीय क्षति

भोपाल,25 मई, मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के वरिष्ठ साहित्यकार कवि और प्रगतिशील लेखक संघ के पूर्व अध्यक्ष भगवत रावत का आज निधन हो गया. 75 वर्षीय रावत ने लंबी बीमारी के बाद सुबह अंतिम सास ली.

वे मध्यप्रदेश प्रगतिशील लेखक संघ के अध्यक्ष और वसुधा पत्रिका के संपादक भी रहे. स्वर्गीय रावत समकालीन हिन्दी कविता के शीर्षस्थ कवि  साहित्यकार और मेहनतकश मजदूरों के प्रतिनिधि कवि के रूप में प्रसिद्ध रहे. साथ ही वे पिछले 50 वर्षो से भारतीय भाकपा के सक्रिय सदस्य भी थे. उनके निधन पर भाकपा के राज्य सचिव महेन्द्र वाजपेयी कार्यकारिणी सदस्य शैलेन्द्र कु मार शैली प्रगतिशील लेखक संघ सहित अन्य साहित्य संस्थाओं ने शोक व्यक्त कर श्रृद्धांजलि अर्पित की. उल्लेखनीय है कि दिवंगत भगवत समकालीन हिन्दी कविता के शीर्षस्थ कवि तथा मेहनतकश जनता की वर्गचेतना के प्रतिनिधि कवि के रुप में प्रतिष्ठित रहे.

वे मप्र प्रगतिशील लेखक संघ के अध्यक्ष तथा पत्रिका ‘वसुधाÓ के संपादक भी रहे. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, प्रगतिशील लेखक संघ, इप्टा, एटक की विभिन्न इकाइयों ने भगवत रावत के निधन पर शोक व्यक्त कर उन्हे श्रद्घांजलि दी. निधन पर शोक –  मुख्यमंत्री चौहान एवं संस्कृति मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने साहित्यकार भगवत रावत के निधन पर शोक व्यक्त किया है. उन्होंने कहा है कि  रावत के निधन से साहित्य जगत को अपूरणीय क्षति हुई हैं.संस्कृति मंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति और शोक-संतप्त परिवार को इस दु:ख को सहने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है.

Related Posts: