फांसी के बाद गुस्साए छात्रों ने जलाए वाहन

भोपाल, 5 मई, नभासं. आरकेडीएफ कालेज के इंजीनियरिंग के एक छात्र ने हॉस्टल में फांसी लगाकर जान दे दी. छात्र की मौत से गुस्साए सहपाठी छात्रों ने कालेज परिसर पर जमकर हंगामा किया. छात्रों ने कालेज के 5 बसों, 2 कार समेत अन्य वाहनों को आग के हवाले कर दिया. पुलिस ने उपद्रवी छात्रों को काबू में लाने हल्के बल व आंसू गैस का प्रयोग किया.

बताया जा रहा है कि छात्र कालेज की फीस व परीक्षा में फेल हो जाने से काफी परेशान था. इसी के चलते वह फांसी लगा ली. हालांकि मृतक ने किसी प्रकार का कोई सुसाइट नोट नहीं छोड़ा. पुलिस के मुताबिक आरकेडीएफ कालेज के इंजीनियरिंग प्रथम वर्ष का छात्र पंचमलाल पाल पिता प्यारेलाल पाल (18) ने शनिवार को कालेज  हॉस्टल में फांसी लगा ली. घटना की खबर लगते ही उसके सहपाठियों ने हॉस्टल व कालेज परिसर में जमकर हंगामा किया. कालेज में छात्रों द्वïरा हंगामें की आशंका के मद्देनजर कालेज परिसर में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.

एसपी सहित कई घायल, पथराव

अनूपपुर, नप्र. भारतीय किसान यूनियन ने किसानों से जुड़ी मांगों को लेकर यहां हंगामा खड़ा कर दिया. पुलिस अक्षीक्षक एन.पी. बरकड़े की पिटाई की गई जिससे उन्हें गंभीरावस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस के चार वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया. आठ गाडिय़ों पर पथराव किया गया. प्रशासन के अनेक अधिकारी घायल हैं.

जैतहरी स्थित मोजर वेयर पॉवर प्लांट परिसर के बाहर भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं द्वारा दोपहर १२ बजे से धरना प्रदर्शन प्रारंभ कर दिया गया। धरना प्रदर्शन कारियों का आरोप है कि किसानों के साथ मोजर वेयर कंपनी तथा जिला प्रशासन दोनो ही छल कर रहे हैं. उचित मुआवजा राशि सहित अन्य वायदें भी पूरे नहीं किये जा रहे हैं, जिसे लेकर यूनियन के कार्यकर्ताओं द्वारा कंपनी के गेट नम्बर २ पर जमकर हंगामा ख्ड़ा किया गया।  इस दौरान पुलिस ने पहले अश्रु गैस के गोले व पानी की बौछारे भी कर उन्हे तितर-बितर करने की कोशिश की परन्तु आंदोलन कारियों ने न मानते हुए फिर से हमला कर दिया। जिले के पुलिस अधीक्षक एन.पी. बरकड़े को निशाना बनाया. उन पर लाठी, डण्डों के साथ लात घूसों से प्रहार किया। इस प्रहार से पुलिस अधीक्षक गंभीर रूप से घायल हो गये, जिन्हे तत्काल जिला चिकित्सालय लाया गया। उनके शरीर में लगभग ९-१० टांके लगाये गये हैं एवं तहसीलदार श्री निगम को आंख में गंभीर चोट आई है. दोनों ही अधिकारियों को यहां से अन्य जगह भेजने की तैयार की जा रही है।  इसके साथ ही एसडीएम प्रकाश सिंह चौहान, एसडीओपी सुश्री आभा टोप्पो, तहसीलदार पुष्पेन्द्र निगम, भालूमाड़ा नगर निरीक्षक राजेश सिंह परिहार के सहित लगभग ५ उप निरीक्षक एवं ८-१० आरक्षक को भी चोंटे आई हैं.

जिले के कलेक्टर जे.के. जैन मौके पर खड़े थे, यह घटना होते ही उन्हे पत्रकारों ने एक तरफ ले जाकर किनारे किया। पुलिस की चार गाड़ी को आग के हवाले किया, ८ गाडिय़ों में पथराव कर तोडफ़ोड़ की। इस घटना के बाद पुलिस महानिरीक्षक शहडोल, पुलिस उप महानिरीक्षक शहडोल मौके पर रवाना हो गये हैं। नेताओं ने की निंदा- स्थानीय विधायक बिसाहू लाल सिंह, कोतमा विधायक दिलीप जायसवाल, पुष्पराजगढ़ विधायक सुदामा सिंह सिंग्राम, अजजा आयोग अध्यक्ष रामलाल रौतेल, विन्ध्य विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष अनिल गुप्ता, जयप्रकाश अग्रवाल ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि यह यूनियन किसानों को बरगला रहा है बाहर से आकर किसानों के हिमायती बनने की कोशिश कर रहे है, इसके पीछे कुछ और है, इन सभी ने एक स्वर से कहा है कि इस पर कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए।

Related Posts: