मुंबई, 17 फरवरी. मुंबई नगरपालिका में निकाय चुनाव की मतगणना के बाद सभी 227 सीटों के नतीजे आ गए हैं.  शिवसेना-बीजेपी गठबंधन को 106 सीटों पर जीत हासिल हुई है.

एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन को 66 सीटों पर जीत मिली है. एमएनएस को 26 जबकि अन्य के खाते में 24 सीटें गई है.  बीएमसी की मेयर श्रद्धा जाधव चुनाव जीत गई है. ठाणे नगपालिका चुनाव में शिवसेना-बीजेपी गठबंधन को 61 सीट मिली जबकि कांग्रेस-एनसीपी गबंधन ने 52 सीटें जीती है. एमएनएस को सात सीटों पर जीत मिली है जबकि अन्य के खाते में 10 सीटें गई है. ठाणे में शिवसेना-बीजेपी गठबंधन बहुमत से 5 सीट दूर रहा है. पिंपरी चिंचवाड़ नगरपालिका में एनसीपी गठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिल गया है. एनसीपी को 68 सीटों पर अकेले जीत हासिल हुई है जबकि कांग्रेस एनसीपी गठबंधन ने 76 सीटों पर जीतकर स्पष्ट बहुमत हासिल कर लिया है. शिवसेना-बीजेपी गठबधन को 15, एनसीपी को 3 और अन्य के खाते में 4 सीटें गई है.

मुंबई सहित महाराष्ट्र के 10 नगर निगमों और 27 जिला परिषदों में हुए चुनावों की मतगणना शुक्रवार सुबह शुरु हो गई. नगर निगम चुनाव गुरुवार को हुए थे जबकि 27 जिला परिषदों और 309 पंचायत समितियों में सात फरवरी को वोट डाले गए थे. पुणे के नतीजे राकांपा के लिए अच्छे नहीं रहे. पुणे में 152 सदस्यीय नगर निगम के नतीजों में मेयर मोहनसिंह राजपाल को उनके भाजपा प्रतिद्वंदी गणेश बिड़कर से पराजय का सामना करना पड़ा. मुंबई के अलावा गुरुवार को ठाणे, उल्हासनगर, पुणे, पिंपरी चिंचवाड़, सोलापुर, नासिक, अकोला, अमरावती और नागपुर नगर निगमों के लिए वोट डाले गए थे.

बागी भारी पड़े : कांग्रेस

मुंबई समेत ज़्यादातर नगर निकायों में दूसरे नंबर पर रहे कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन ने हार की समीक्षा भी शुरू कर दी है। कांग्रेस के नेता माणिक राव ने कहा है कि टिकट वितरण से पार्टी के कुछ नेताओं में असंतोष उपजा और वे बागी हो गए। कांग्रेस को इससे नुकसान हुआ।

Related Posts:

मोदी से मिले केजरीवाल बीमार पड़े
आय से अधिक संपत्ति मामला: आईएएस अरविंद जोशी ने आखिर किया सरेंडर
शंघाई सहयोग संगठन में शामिल होने ताशंकद पहुंचे मोदी
निगम में आधी सीट नहीं जीतने पर केजरीवाल सरकार इस्तीफा देकर दोबारा चुनाव कराये : ...
नगरीय निकाय चुनाव: तीन बजे तक करीब 46 फीसदी मतदान
मोदी ने अच्छी बहस के साथ सुचारू सत्र की उम्मीद जतायी