पुरानी कीमतों पर पेट्रोल भराने उमड़ी भीड़

भोपाल, 23 मई, नभासं. बुधवार की शाम पेट्रोल के दाम में आग लगने की खबर ने लोगों को जोरदार झटका दिया. प्रति लीटर पेट्रोल के दाम में साढ़े सात रुपये की बढ़ोतरी कर दी गयी. महंगाई के इतनी बड़ी मार से एकबारगी लोग असहज व आग बबूला हो गये हैं. किसी ने सरकार को कोसा तो किसी ने विपक्ष को.

बहुत ऐसे रहे जो नई वृद्धि दर लागू होने से पहले बुधवार शाम में ही मोटरसाइकिल की टंकी फूल करा लिये. इस बीच पंप संचालकों के बीच जैसे-जैसे पेट्रोल के दाम बढऩे की खबर पहुंची वे तेल न होने का बहाना बना हाथ खड़े कर लिये.  इस दौरानम पेट्रोल पम्प पर तेल लेने के लिए सैकड़ों मोटरसाइकिल जमा हुई.  इधर इस ताजा मूल्य वृद्धि पर आम आदमी ने काफी तीखी प्रतिक्रिया देकर सरकार के प्रति गुस्से का इजहार किया. शिक्षक रामेश कुमार ने कहा कि अब बाइक की सवारी कठिन हो गयी.स्कूल जाने के लिए साइकिल रखनी होगी.
लघु उद्यमी संतोष कुमार ने बताया कि पेट्रोल के दाम बढऩे से जेब में आग लग गयी है। सरकार को इस पर विचार करना होगा. वृद्धि दर वापस ले सरकार. गोखुलपुर निवासी किसान सुधीर प्रसाद ने कहा कि इससे ज्यादा और क्या हो सकता है. अब मोटरसाइकिल चलाना मुश्किल हो गया.

आज जिला मुख्यालयों पर भाजपा का धरना

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, प्रभात झा ने कहा कि कमरतोड़ महंगाई में पेट्रोल के मूल्य मे 7.5 रूपये वृद्धि करके यूपीए सरकार ने देश के गरीबों और आम आदमी का चैन और सुकून छीना है. उन्होनें कहा कि एनडीए के समय पेट्रोल की कीमतें मात्र 33 रूपयें थी जबकि कांग्रेस के शासनकाल में पेट्रोल की कीमतें 78 रू. तक पहुंच चुकी है, जो कि जनता के लिए परेशानी का सबब बनेगी. उन्होने कहा कि भारतीय जनता पार्टी 24 मई को प्रदेश के सभी 55 संगठनात्मक जिला केन्द्रो में धरना प्रर्दशन कर केन्द्र सरकार के इस जन विरोधी निर्णय का विरोध करेगी.  प्रभात के नेतृत्व में आज भोपाल के न्यू मार्केट स्थित समता चौक पर यूपीए सरकार द्वारा पेट्रोल के मूल्य में 7.5 रू. की वृद्धि किये जाने के विरोध में मशाल जुलूस निकाला गया. मशाल जुलूस समता चौक से प्रारंभ हुआ और रंगमहल चौराहा पहुंचकर केन्द्र सरकार के जन विरोधी निर्णयों के विरोध में नारेबाजी की गयी. मशाल जुलूस का नेतृत्व करते हुए प्रभात झा ने कहा कि संवेदनहीन यूपीए सरकार ने संसद का सत्र समाप्त होते ही पेट्रोल के मूल्य में बेतहाशा वृद्धि कर देश के गरीबों और आम आदमी के जले पर नमक छिड़का है. और जनता की कमर टूट जायेगी.  उन्होनें कहा कि यूपीए सरकार की जन विरोधी निर्णयों के खिलाफ  प्रदेश के सभी 55 संगठनात्मक जिला केन्द्रों पर 24 मई को धरना प्रदर्र्शन कर केन्द्र सरकार का विरोध करेगी. उन्होनें कहा कि महिला मोर्चा पूरे प्रदेश में थाली बजाओं आंदोलन करेगी.

Related Posts: