पिछले कुछ दिनों से मेरे फेसबुक अकाउंट में लोगों की रिक्वेस्ट आ रही थीं , जिनमें प्रोफाइल वेरिफिकेशन का आग्रह किया जाता था। पता चला कि फेसबुक पर एक स्पैम मेसेज रोशनी की स्पीड से फैल रहा है जिसमें लोगों से कहा जा रहा है कि सभी यूजर्स के प्रोफाइल का 15 जून तक वेरिफिकेशन होना है। इसके बाद सभी अनवेरिफाइड अकाउंट डिलीट कर दिए जाएंगे। संदेश के नीचे ही वेरिफिकेशन की प्रोसेस शुरू करने के लिए बटन होता था।

बे चारे फेसबुक यूजर धड़ाधड़ बटन पर क्लिक कर रहे थे , यह जाने बिना कि यह एक फेसबुक स्पैम की करतूत थी जो ऐप की शक्ल में वायरस की तरह काम करता है। जैसे ही वे इस ऐप को इन्स्टॉल करते थे , वह उनकी फ्रेंड लिस्ट में मौजूद लोगों को वही डरावना संदेश भेज देता था। 15 जून निकल चुका है लेकिन वेरिफिकेशन संदेश अब भी आ रहे हैं। प्रोफाइल वेरिफिकेशन स्पैम फेसबुक पर फैल रहे दर्जनों खतरनाक स्पैम में से एक है। एक बार इस पर दिए बटन को दबाने का मतलब है , आपने अपने निजी डेटा की प्रिवेसी के साथ समझौता कर लिया। क्लिक करने की बजाय आपको चाहिए कि ऐसे संदेशों को अपने पेज या टाइमलाइन से पूरी तरह हटा दें और फेसबुक को रिपोर्ट करें।

फेसबुक यूजर्स के बीच इस बात को लेकर खासी जिज्ञासा रहती है कि उनके प्रोफाइल को किसने देखा। ऐसा करने वाले एक ऐप्लिकेशन से जुड़े संदेश कई महीनों से फैल रहे हैं , जिन्हें लोग क्लिक कर देते हैं। लेकिन यह एक फर्जी ऐप्लिकेशन है जो आपके अकाउंट का डेटा लपक लेता है। फेसबुक पर ऐसा कोई ऐप्लिकेशन नहीं है जो यह
जानकारी दे सके।

शक करें उस ऐप्लिकेशन पर जो:

1. आपके फेसबुक खाते की सभी जानकारियों तक पहुंचना चाहता हो।
2.     बहुत सारी चीजों के बारे में इजाजत मांगता हो।
3.     फेसबुक चैट पर आपकी तरफ से चैट करने की छूट चाहता हो। वह चैट के जरिये दूसरों तक स्पैम मेसेज भेजने लगेगा।
4.    आपके पेज और इवेंट्स को मैनेज करने की इजाजत मांग रहा हो।
5.     आपकी तरफ से आपके दोस्तों को ईमेल भेजने की इजाजत चाहता हो।
6.     आपको फ्री गिफ्ट कार्ड , एयरलाइन टिकट , फूड वाउचर , आई-पैड , आई-फोन देने की बात करता हो।
7.     आपका कोई विडियो या सीक्रेट फोटो दिखाने की बात करता हो।
8.     अश्लील विडियो या सिलेब्रिटीज के विडियो दिखाने की बात करता हो।
9.     कोई रहस्य-सा बनाकर आपकी जिज्ञासा जगाने की कोशिश करे। जैसे यह फोटो आप जरूर देखना चाहेंगे या 95 फीसदी लोग यह विडियो पूरा नहीं देख पाएंगे या फिर 80 फीसदी लोग आंखों के इस टेस्ट में नाकाम हो गए।

ऐसे बचें फेसबुक स्कैम से

हर कहीं क्लिक न करें- यूं ही बिना जाने समझे किसी भी लिंक पर क्लिक न करें। यह नियम सिर्फ फेसबुक टाइमलाइन या वॉल पर ही नहीं बल्कि चैट संदेशों , ईमेल , प्राइवेट मेसेजों वगैरह पर भी लागू होता है। किसी ने कोई लिंक भेजा है तो पहले उससे पूछ जरूर लें।
आकर्षक संदेशों से बचें-अगर कोई संदेश इतना आकर्षक है कि उस पर यकीन नहीं होता , तो फिर उसे खोलकर देखने की क्या जरूरत है।

सिस्टम रखें सेफ- कंप्यूटर में ऐंटि-वायरस और ऐंटि-स्पाईवेयर सॉफ्टवेयर जरूर इंस्टॉल करें और उन्हें पूरी तरह अपडेट भी रखें।

प्रिवेसी सेटिंग्स- फेसबुक अकाउंट में प्रिवेसी और सिक्युरिटी सेटिंग्स का इस्तेमाल जरूर करें। मुमकिन हो तो प्रिवेसी सेटिंग को सबसे ऊपरी स्तर पर रखें ताकि आपका प्रोफाइल , ईमेल पता , जन्म दिन , घर का पता , फोटो और अपडेट हर किसी को दिखाई न पड़ें।

कैसे फैलते हैं स्कैम और स्पैम
चैट- ऐसे कई स्पैम हैं जिनमें आपके फ्रेंड्स से किसी न किसी बहाने पैसा ऐंठने के लिए चैट संदेशों का इस्तेमाल किया जाता है।

वॉल पोस्ट- अगर आपके किसी फेसबुक फ्रेंड के अकाउंट पर कब्जा कर लिया जाता है तो उसकी वॉल पर स्पैम मेसेज पोस्ट होने लगते हैं। ये मेसेज आपकी न्यूज फीड में आ जाते हैं।
ग्रुप और पेज- कुछ पेज और ग्रुप अपने फेसबुक फ्रेंड्स को उनके साथ जोडऩे के बदले आपको किसी न किसी तरह का गिफ्ट ऑफर करते हैं। कई बार वे आपको एक खास कोड अपने ब्राउजर के अड्रेस बार में पेस्ट करने को कहते हैं जो आपको वायरस दे सकता है। इनके सदस्यों की संख्या जितनी बढ़ती जाती है , उनके लिए अपने स्कैम को चलाना उतना ही आसान हो जाता है।

फर्जी ऐप्लिकेशन्स- कुछ ऐप्लिकेशन लोगों से किसी न किसी बहाने निजी डेटा मांगते हैं। जैसे एक फेसबुक क्विज स्कैम में आपको अपना स्कोर तभी दिखाया जाता है , जब आप अपना मोबाइल नंबर दे दें।

फर्जी इवेंट्स- कुछ स्कैमर आकर्षक इवेंट्स आयोजित करने की बात करके फेसबुक यूजर्स को आमंत्रित करते हैं। वे उनके फेसबुक पेजों पर इवेंट्स से जुड़े लिंक पोस्ट करने की इजाजत मांगते हैं। ऐसे लिंक क्लिक करने वालों के अकाउंट पर कब्जा हो जाता है।
विज्ञापन- कुछ विज्ञापन यूजर्स को आकर्षक ऑफर देकर अपनी ओर खींचते हैं। क्लिक करने पर वायरस ही हाथ लगते हैं।

Related Posts: