कांग्रेस के 126वें स्थापना दिवस पर कांग्रेसजनों ने दोहराया संकल्प

भोपाल, 28 दिसंबर. आज प्रदेश कांग्रेस कार्यालय इंदिरा भवन में कांग्रेस का 126वां और कांग्रेस सेवादल का 88वां स्थापना दिवस इंदिरा गांधी एवं राजीव गांधी मंत्रिमंडल में मंत्री रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता एल.पी. साही के मुख्य आतिथ्य में मनाया गया.

इस वर्ष का यह स्थापना दिवस महापुरुष पं. मोतीलाल नेहरी और महामना मदनमोहन मालवीय के 150वें जन्म वर्ष समारोह के साथ जोड़कर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया के प्रतिनिधि एवं पीसीसी के उपाध्यक्ष विश्वनाथ दुबे की अध्यक्षता में आयोजित हुआ, जिसमें विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह भी उपस्थित थे. कार्यक्रम का संचालन 150वां जन्म वर्ष समारोह समिति के सचिव कैप्टन जयपाल सिंह ने किया. स्थापना दिवस पर यह समारोह आज सुबह पीसीसी कार्यालय के प्रांगण में मुख्य अतिथि वरिष्ठ कांग्रेस नेता एल.पी. साही द्वारा झंडावंदन तथा कांग्रेस सेवादल के मुख्य संगठक योगेश यादव के संयोजन में सेवादल द्वारा वंदे मातरम्ï और सामूहिक झंडा गीत के गायन के साथ प्रारंभ हुआ. इस अवसर पर विश्वनाथ दुबे ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की उपस्थिति में भूरिया के संदेश और प्रतिज्ञा पत्र का वाचन किया. कांग्रेस अध्यक्ष ने स्थापना दिवस पर बधाई एवं शुभकामनायें देते हुये कहा कि कांग्रेस भ्रष्टाचार के खिलाफ हर दौर में लड़ती रही है. तत्पश्चात् इंदिरा भवन के राजीव गांधी सभागार में स्थापना दिवस पर मुख्य समारोह वरिष्ठ कांग्रेस नेता एल.पी. साही के मुख्य आतिथ्य, पीसीसी के उपाध्यक्ष विश्वनाथ दुबे की अध्यक्षता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की विशिष्ठ उपस्थिति में आयोजित हुआ. प्रारंभ में पं. मोतीलाल नेहरू और महामना मदनमोहन मालवीय के चित्रों पर सामूहिक पुष्पांजलि के साथ-साथ उपस्थित स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का सूत माला से अजय ङ्क्षसह और विश्वनाथ दुबे ने सम्मान किया. प्रदेश कांग्रेस कार्यालय प्रभारी शांतिलाल पडियार ने स्वागत भाषण देते हुये समारोह की रूपरेखा पर प्रकाश डाला. समारोह के मुख्य अतिथि एल.पी. साही ने ‘कांग्रेस इतिहास और वर्तमान’ विषय पर अपने भाषण को केंद्रित करते हुये कांग्रेस के राष्ट्रीय संकल्पों, उसके ऐतिहायिक संघर्षों और सफलताओं का उल्लेख करते हुये कहा कि देश ने कांग्रेस के नेतृत्व में संघर्ष करके आजादी हासिल की थी.

मारिशस, ङ्क्षसगापुर आदि जो देश मांगकर आजादी लेना चाहते थे, वे हमारे बहुत वर्ष बाद आजादी प्राप्त कर सके. आपने कहा कि कांग्रेस ने सत्ता का हमेशा देश के विकास और लोक कल्याण के लिये उपयोग किया है. वह सदा सत्ता में ही रहेगी, ऐसा कोई भ्रम भी उसके भीतर नहीं है. वह तो भूतकाल में भी लोकहित में संघर्ष करती रही है और आगे भी करती रहेगी. इस अवसर पर संगोष्ठी भी आयोजित हुई. ‘भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में बैरिस्टर मोतीलाल नेहरू का योगदान’ विषय पर भोपाल के वरिष्ठ अधिवक्ता प्रो. अनिल वर्मा ने कहा कि पं. मोतीलाल नेहरू गांधीजी से प्रेरित होकर जिस तरह स्वतंत्रता संग्राम में कूदे और अपने पुत्र (पं. जवाहरलाल नेहरू) को राष्ट् को समर्पित किया, वह भारतीय इतिहास का एक अद्वितीय अध्याय है. प्रख्यात शिक्षाविद् राजेंद्र कोठारी ने संगोष्ठी में ‘महामना मदनमोहन मालवीय का भारतीय शिक्षा क्षेत्र में योगदान’ विषय पर अपने विचार रखे. प्रदेश कांग्रेस के संगठन प्रभारी महामंत्री रवि जोशी ने आभार प्रकट किया. इस अवसर पर पीसीसी के कोषाध्यक्ष गोविन्द गोयल, मीडिया विभाग के अध्यक्ष मानक अग्रवाल, मीडिया प्रभारी प्रमोद गुगालिया, उपाध्यक्ष आभासिंह, महामंत्री सत्येदव कटारे, सुनील सूद, डॉ. शशि राजपूत, डॉ. तनिमा दत्ता, सचिवद्वय रवि सक्सेना और नवीन बजाज, जिला शहर कांग्रेस अध्यक्ष पी.सी. शर्मा, प्रवक्ता जे.पी. धनोपिया, डॉ. महेंद्र सिंह चौहान, वरिष्ठ नेता इब्राहिम कुरैशी, महेंद्र बौद्घ, राजा पटेरिया, विभा पटेल, ईश्वर सिंह चौहान, अशोक जैन भाभा, अकबर बेग, पार्थसारथी दुबे, अश्विनी श्रीवास्तव, निजामुद्दीन अंसारी चांद, आनंद तारण, निहाल अहमद सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसजन उपस्थित थे.

Related Posts: