भूरिया ने नैतिकता के आधार पर सीएम से मांगा इस्तीफा

ग्वालियर, 17 नवम्बर, नभासं. मध्य प्रदेश में व्याप्त भ्रष्टाचार एवं भाजपा के इशारे पर सरकारी मशीनरी द्वारा कांग्रेस कार्यकर्ताओं का उत्पीडऩ किये जाने के विरोध में विधानसभा के शीतकालीन सत्र में कांग्रेस शिवराज सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी.

शिवराज सिंह के खिलाफ सीहोर की एक अदालत द्वारा वारंट जारी किये जाने के मामले को गंभीरता से लेते हुये कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से नैतिकता के आधार पर तत्काल इस्तीफा देने की मांग की है. कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कांतिलाल भूरिया ने आज यहां पत्रकारों से चर्चा में कहा कि विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाये जाने के मामले में उनकी नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह से बात हो चुकी है. उन्होंने कहा कि ग्वालियर में आनंदनगर की घटना के मामले में मुख्यमंत्री के अभी तक मौन बने रहने पर उन्हें आश्चर्य है. उन्होंने मुख्यमंत्री के प्रति अत्यन्त तल्ख रवैया अपनाते हुये कहा कि शिवराज तो मुखौटा हैं, सरकार तो संघ चला रहा है. उन्होंने संघ पर प्रदेश की जनता का शोषण करने का आरोप लगाया. उन्होंने मांग की कि आनंदनगर में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष प्रभात झा के इशारे पर ही भाजपा कार्यकर्ताओं ने उपद्रव किया इसलिये झा के खिलाफ तत्काल मुकदमा दर्ज होना चाहिये.

भूरिया ने कहा कि ग्वालियर की गौरवशाली परंपरा है, यहां आतंकवादी कार्रवाई कभी नहीं हुई लेकिन भाजपा ने इस शहर की आनंदनगर कॉलोनी में यह घटना भी करा दी. उन्होंने कहा कि नगर निगम का उक्त कार्यक्रम कांग्रेस विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर के विधानसभा क्षेत्र में था इसलिये प्रद्युम्न को मंच पर बोलने का हक बनता था लेकिन प्रभात झा की प्लानिंग के तहत भाजपा कार्यकर्ताओं ने कांग्रेसजनों पर प्राणघातक हमला किया. प्रशासन ने भाजपा के कार्यकर्ता  की भूमिका निभाई. मुख्यमंत्री एक ओर बेटी बचाओ अभियान चला रहे हैं वहीं उन्हीं की पार्टी के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस पार्षद सुषमा चौहान एवं अन्य महिला कार्यकर्ताओं को मारा-पीटा गया. उन्होंने कहा कि धार जिले के सरदारपुर में भी कांग्रेस विधायक के साथ मारपीट की ऐसी ही घटना हो चुकी है. सीधी, मंदसौर एवं खण्डवा में कुपोषण के कारण बच्चे मर रहे हैं.

जबलपुर में भाजपा नेता विनोद गोटिया ने एक व्यक्ति से काम कराने के एवज में पांच लाख रुपये ले लिये. साबित हो गया है कि भाजपा बिना पैसा लिये कोई काम नहीं करती. दिग्विजय सिंह द्वारा कांग्रेसजनों से लाठी-डंडे थामने के कथित आह्वïन करने संबंधी बयान पर भूरिया ने कहा कि कांग्रेसजनों को पार्टी की अहिंसावादी विचारधारा पर चलते हुये अपने मान-सम्मान की रक्षा के लिये आगे आना पड़ेगा. पत्रकारों से चर्चा के समय कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री अशोक सिंह, सचिव निशीथ पटेल, पूर्व मंत्री भगवान सिंह यादव, ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष मोहन सिंह राठौड़, विधायक इमरती देवी सहित वरिष्ठ नेता उपस्थित थे.

Related Posts: