मृतिका की मां ने एसपी से मुलाकात कर लगाई गुहार

बैतूल, 15 मई नससे. बकरे को लेकर हुए विवाद में युवक द्वारा महिला पर जानलेवा हमला और उसकी पुत्री की हत्या कर देने के मामले में महिला द्वारा आरोपी के खिलाफ आमला थाने में दर्ज करवाई गई थी लेकिन पुलिस ने आरोपियों पर बिना कोई प्रकरण बनाए ही छोड़ दिया जिसको लेकर महिला द्वारा आरोपी पर कार्रवाई नहीं होने पर जल समाधि लेने का निर्णय लिया है.

रामरती बाई ने पुलिस अधीक्षक को सौंपे ज्ञापन में बताया कि आमला में उसके पड़ोस में रहने वाली मेरी चचेरी बहन के लड़के दिनेश संतोष के बकरे को लेकर विवाद होने पर मेरी बेटी दुर्गा ने 15 अप्रैल को थाना आमला में रिपोर्ट दर्ज कराई थी. दुर्गा को चोट होने के कारण 15 अप्रैल को शाम के समय पुलिस द्वारा इसका उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कराया गया इसके पश्चात् भी आरोपियों को बिना कोई प्रकरण बनाए छोड़ दिया गया.  वहीं उक्त प्रकरण में पुलिस कार्रवाई नहीं होने से आरोपियों के हौसल बुलंद हो गए हैं जिसके चलते उनके द्वारा 18 अप्रैल की रात्रि में मेरी बेटी की हत्या कर दी और मुझ पर भी जानलेवा हमला कर दिया. रामरती ने ज्ञापन में यह भी कहा है कि वह जिला अस्पताल में भर्ती रही इस दौरान उसकी पुत्री के बच्चों की देखरेख और उनका पालन पोषण करने वाला भी कोई नहीं था. वहीं उसके हाथों में गम्भीर चोटे हैं जिसके चलते वह अपने परिवार और अपनी बेटी के बच्चों की सेवा भी नहीं कर पा रही है. वहीं आरोपी के दोनों भाईयों द्वारा रात्रि के समय रामरती के घर पहुंचकर धमकी दी जाती है जिससे उसका व उसकी बेटी के अनाथ बच्चों को जान का खतरा बना रहता है.

रामरती ने यह भी बताया कि उसके परिवार के सामने रोजी रोटी का संकट भी खड़ा हो गया है और उसकी बेटी के अनाथ बच्चों का भविष्य भी अंधकारमय हो गया है. रामरती ने पुलिस पर यह भी आरोप लगाया कि यदि 15 अप्रैल को पुलिस द्वारा उचित कार्रवाई की गई होती तो आरोपियों द्वारा उसकी बेटी की हत्या एवं उसे घायल नहीं किया जाता वहीं उसकी मृत बेटी के दोनों बच्चे अनाथ नहीं होते. रामरती ने पुलिस अधीक्षक से मांग की है कि आरोपी युवक और उसके दोनों भाईयों द्वारा उसके घर पहुंचकर धमकी दिए जाने के मामले में भी उन लोगों पर कार्रवाई की जाए. रामरती ने ज्ञापन में यह भी कहा है कि यदि शीघ्र ही इन आरोपियों पर कार्रवाई नहीं की जाती है तो वह उसकी बेटी के बच्चों के साथ जल समाधि ले लेगी जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी.

Related Posts: