इस्लामाबाद, 17 मई. पाकस्तानी प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने वॉशिंगटन और इस्लामाबाद के बीच रिश्तों में आंशिक रूप से बर्फ पिघलने के मद्देनजर कहा है कि अमेरिका और नाटो के साथ पाकिस्तान के रिश्ते नाजुक दौर से गुजर रहे हैं और इस्लामाबाद को राष्ट्रीय हितों से जुड़े अहम् फैसले करने की जरूरत है.

मंत्रिमंडल की बैठक में गिलानी ने कहा कि नाटो और अमेरिका के साथ हमारे संबंध नाजुक दौर से गुजर रहे हैं. यहां हमें क्षेत्र में अपने सामरिक महत्व और अपने राष्ट्रीय हितों को ध्यान में रख अहम फैसले लेने की जरूरत है. बैठक लगभग छह महीने से बंद नाटो के सप्लाई रूटों को खोलने समेत अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा के लिए हुई थी. प्रधानमंत्री की ओर से यह टिप्पणी ऐसे वक्त आई है जब एक दिन पहले ही मंत्रिमंडल की रक्षा समिति ने अगले हफ्ते होने जा रहे नाटो सम्मेलन में राष्ट्रपति जरदारी के भाग लेने का समर्थन किए जाने और अफगानिस्तान में विदेशी बलों के सप्लाई रूटों को लेकर बातचीत को नतीजे पर पहुंचाने के निर्देश दिए हैं.

Related Posts:

महंगाई पर भी बीजेपी-जेडीयू आमने-सामने
मुश्ताक समूह जम्मू-कश्मीर में करेगी एक हजार करोड़ का निवेश
अदालत में मामला विचाराधीन होने से संसद कानून बनाने के अधिकार को छोड़ नहीं सकता :...
नोटबंदी से उद्योगों को मिलेगा सस्ता ऋण : जेटली
सांस्कृतिक, सामाजिक सौहार्द के बिना विकास संभव नहीं : नकवी
सीएम नीतीश के काफिले पर फेंके पत्थर, बाल-बाल बचे