उपराष्ट्रपति चुनाव में कुल 736 वोट पड़े

नई दिल्ली, 7 अगस्त, नससे. देश के 14 वें उपराष्ट्रपति के लिए हुए चुनाव में संप्रग उम्मीदवार डॉ हामिद अंसारी की जीत हो गई है. वह दुबारा इस पद के लिए चुने गए हैं. डॉ अंसारी डॉ राधाकृष्णन के बाद पहले ऐसे उप राष्ट्रपति हैं जिन्हें लगातार दो बार यह जिम्मेदारी संभालने का मौका मिला है. उपराष्टï्रपति चुनाव में कुल 736 वोट पड़े. जिसमें आठ वोट को खारिज कर दिया गया.

श्री अंसारी को उपराष्ट्रपति पद के लिए संपन्न हुए चुनाव में कुल 49० वोट मिले. जबकि उनके विपक्ष में राजग की ओर से उपराष्ट्रपति पद के लिए उतारे गए उम्मीदवार भाजपा नेता जसवंत सिंह को 238 वोट मिले. आंकड़ों के हिसाब से श्री अंसारी की जीत पहले ही मानी जा रही थी. प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज, भाजपा संसदीय दल के नेता लालकृष्ण आडवाणी, कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी, लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार सहित लोकसभा व राज्यसभा के विभिन्न सांसदों सहित 600 से अधिक सांसदों ने मतदान किया. जबकि बीजद, तेदेपा और आरएसपी अपनी पूर्व घोषणा के अनुसार मतदान से अनुपस्थित रहे. वहीं केंद्रीय मंत्री विलासराव देशमुख बीमार होने के कारण मतदान करने नहीं पहुंचे. मतों की गणना संसद भवन में हुई और शाम सात बजे के करीब परिणाम की घोषणा कर दी गई.

गौरतलब है कि मतदान में केवल लोकसभा व राज्यसभा के सांसद भाग लेते हैं. उपराष्ट्रपति पद के लिए दूसरी बार चुनाव लड़ रहे हामिद अंसारी को यूपीए और इसके सहयोगियों के अलावा लेफ्ट पार्टियों का भी समर्थन हासिल था। उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान मंगलवार सुबह 10 बजे शुरू हुआ। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी मतदान करने के लिए एक साथ पहुंचे। बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने भी मतदान किया। शुरुआती मतदाताओं में कांग्रेस की प्रिया दत्त, अभिषेक मनु सिंघवी और केन्द्रीय मंत्री वी. नारायणसामी प्रमुख थे। देश के 14वें उपराष्ट्रपति के निर्वाचन में लोकसभा और राज्यसभा के कुल 788 सांसद मतदान के लिए योग्य थे।

पहले से ही माना जा रहा था कि 75 वर्षीय अंसारी को तकरीबन 500 वोट मिलेंगे । लोकसभा में कांग्रेस के 204 और राज्यसभा में 71 सदस्य हैं। यूपीए के घटक तृणमूल कांग्रेस के लोकसभा में 19 सांसद हैं जबकि राज्यसभा में 9 सांसद हैं, डीएमके के लोकसभा में 18 और राज्यसभा में 7 सदस्य हैं, एनसीपी के लोकसभा में 9 और राज्यसभा में 7 सदस्य हैं। आरएलडी के लोकसभा में 5 सदस्य हैं । नैशनल कॉन्फ्रेंस के लोकसभा में 3 और राज्यसभा में दो सदस्य हैं।

इसके अलावा लोकसभा में एसपी के 22 सदस्य और राज्यसभा में 9 सदस्य हैं। बीएसपी के लोकसभा में 21 सदस्य और राज्यसभा में 15 सदस्य हैं । शुरुआती दो घंटे के अंदर मतदान करने वालों में एनडीए उम्मीदवार जसवंत सिंह भी शामिल थे। जसवंत सिंह को एनडीए के सभी दलों का समर्थन हासिल था हालांकि राष्ट्रपति चुनाव में जेडीयू और शिवसेना ने प्रणव मुखर्जी का समर्थन किया था। लोकसभा में बीजेपी के 114 सदस्य हैं और राज्यसभा में 49 सदस्य हैं । जेडीयू के लोकसभा में 20 और राज्यसभा में 9, शिवसेना के 11 और 4 और शिरोमणि अकाली दल के चार और तीन सदस्य क्रमश: लोकसभा और राज्यसभा में हैं। इनके अलावा अन्नाद्रमुक ने भी जसवंत सिंह के समर्थन की घोषणा की है उसके 14 सदस्य हैं। बीजेडी ने मतदान से अलग रहने का निर्णय किया था।

Related Posts: