चक्रवातीय तूफान  से 33 मरे

चेन्नई, 30 दिसंबर. सन् 2011 की विदाई बेला में जबर्दस्त चक्रवाती तूफान ‘थाने’ के शुक्रवार को तमिलनाडु तट पहुंचने पर भारी वर्षा होने के साथ ही 140 किलोमीटर की रफ्तार से आंधी चली, जिससे कम से कम 33 लोगों की मौत हो गई और भारी तबाही हुई.

तूफान से कुड्डलोर एवं संघ शासित प्रदेश पांडिचेरी में चक्रवाती तूफान से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया. हालांकि चक्रवात ‘थाने’ दक्षिणी आंध्रप्रद्रेश तट से बिना कोई नुकसान पहुंचाये ही गुजर गया. पिछले दो दिनों से इस चक्रवात के कारण लोग डर के साये में जी रहे थे. इस तूफान के चलते दोनों राज्य हाई अलर्ट पर थे. अधिकारियों ने बताया कि चेन्नई से करीब 170 किलोमीटर दूर कुड्डलोर में तूफान ने काफी तबाही मचाई. तूफान के कारण यहां 21 लोगों की मौत हो गयी, पुडुचेरी में सात, विल्लुपुरम और तिरुवल्लूर में क्रमश: दो.दो व्यक्तियों और चेन्नई में एक व्यक्ति की मौत हो गई. मौतें अधिकतर वष्राजनित घटनाओं में हुई. इसके अलावा घरों के ढहने एवं बिजली का करंट लगने की भी घटनाएं सामने आई हैं. तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयाललिता ने राहत और बचाव कार्यों के लिए 150 करोड़ रुपए के बजट की घोषणा की. करते हुए राज्य के चार मंत्रियों को प्रभावित जिलों का दौरा करने के निर्देश दिए हैं.

ट्रेने व विमानसेवा प्रभावित

दक्षिण तमिलनाडु से चलने वाले कई ट्रेनों के परिचालन पर असर पड़ा है. दक्षिण रेलवे ने चेन्नई सेंट्रल और चेन्नई एग्मोर जंक्शन पर सूचना और हेल्पलाइन सेंटर बनाए हैं.इनके नंबर पर हैं 044-2819216 चेन्नई एग्मोर, और 044-25353798 और 25330710 चेन्नई सेंट्रल.इन नंबरों पर कॉल कर यात्री ट्रेनों से जुड़ी सूचनाएं हासिल कर सकते हैं. तूफान से विमान सेवाओं पर भी असर पड़ा है.

Related Posts: