भोपाल, 12 फरवरी. मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता अभय दुबे ने यहां आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि बीते दिनों भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी ने एक समारोह में यह कहा कि मध्यप्रदेश में किसानों को पांच वर्ष तक मुफ्त बिजली दी जानी चाहिये. मध्यप्रदेश का किसान जानना चाहता है कि 2009 से राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद गडकरी कई बार मध्यप्रदेश आये हैं.

उन्होंने कभी इस बात की सुध नहीं ली कि क्यों मध्यप्रदेश में 2005 से 2010 तक, 9,889 किसानों ने बिजली की वजह से खेतों में पानी नहीं दे पाने पर बिजली के बढ़े हुये बिलों के कारण आत्महत्या कर ली. साथ ही मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार ने हजारों किसानों पर बिजली चोरी के झूठे प्रकरण लगाकर उन्हें जेल में डाल दिया तब भी गड़करी ने मौन नहीं तोड़ा.

दुबे ने कहा कि चूंकि अब मध्यप्रदेश में चुनाव नजदीक है और भाजपा की पूरी देश में राजनैतिक दृष्टिकोण से स्थिति कमजोर हो चुकी है इसलिये मध्यप्रदेश में किसानों के प्रति वे अपनी झूठी संवेदनायें व्यक्त कर रहे हैं. दुबे ने कहा कि जहां एक ओर मध्यप्रदेश में भाजपा की सरकार ने 100 दिन में पूरी बिजली उपलब्ध कराने का वादा किया था वहां स्थिति यह है कि पूरे प्रदेश की जनता इस बिजली की बदहाली को लेकर त्राहिमाम कर रही है. 2008 के चुनाव के वक्त भाजपा सरकार ने षड्ïयंत्रपूर्वक दो-तीन माह के लिये 14 रु. प्रति यूनिट की दर से बगैर टेंडर के हिन्दुस्तान इलेक्ट्रोग्रेफाइट और अडानी जैसी कम्पनियों से बिजली खरीदी और चुनाव में जीतने के बाद मध्यप्रदेश को उसी बदहाल स्थिति में छोड़ दिया.

Related Posts: