मोहाली, 9 अगस्त. अनुराधा बाली उर्फ फिजा की मौत की गुत्थी अभी तक रहस्य बनी हुई है. फिजा के वकील रोहित महाजन ने बताया कि यहां मौजूद दो बहनों और थाईलैंड में रहने वाली तीसरी बहन के बीच फिजा की प्रॉपर्टी को लेकर कोई विवाद नहीं है.

उन्होंने बुधवार को पुलिस को भी सूचित कर दिया है, ताकि केस की जांच कहीं और न भटके. पुलिस ने फिजा के दो वकील मित्रों अजीत हुड्डा, रोहित महाजन और चाचा सतपाल से एक बार फिर पूछताछ की. इसके अलावा भी कुछ और लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया गया, जिनमें से कुछ के फिंगर प्रिंट भी लिए गए. फिजा की मोबाइल कॉल डिटेल्स में मिले कुछ और नंबरों से भी पुलिस ने संपर्क किया है.

हुड्डा ने पुलिस को बताया कि एक अगस्त की शाम करीब पांच बजे वह फिजा को लेकर रेस्टोरेंट गए थे और शाम करीब साढ़े सात बजे वापस घर छोड़ दिया. फिजा से केस के सिलसिले में बात करनी थी. रात 10 बजे फिजा ने फोन पर कहा कि वह वकील बदलना चाहती है. वकील रोहित महाजन से पुलिस ने काफी सवाल दागे. मसलन वह फिजा को कब से जानते हैं? फिजा के संपर्क में कौन-कौन थे? उनमें किन लोगों का फिजा के घर में आना-जाना था? रोहित से यह भी जानने की कोशिश की गई कि पिछले कुछ समय के दौरान फिजा के बर्ताव में कोई बदलाव तो नहीं आया था? फिजा के चाचा सतपाल ने बयान दर्ज कराते हुए वही बात दोहराई कि एक अगस्त को फिजा ने फोन करके रखड़ी पर आने के लिए कहा था. साथ ही शव मिलने वाले दिन जब वह पहुंचे, उसके बारे में डिटेल दर्ज कराई.

Related Posts: