अहमदाबाद 19 दिसंबर. गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर अपनी तारीफ के पुल बांधते हुए कहा है कि चीन से भारत सरकार जो काम नहीं करवा सकी, वह उन्होंने अपनी एक धमकी से करवा लिया। बकौल मोदी उनकी धमकी के बाद ही चीन सरकार ने उन गुजराती हीरा व्यापारियों को छोडऩे का फैसला किया, जो तस्करी के आरोप में पकड़े गए थे।

सूरत में सद्भावना मिशन के दौरान मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार दो साल से कोशिश कर रही थी, लेकिन वह चीन सरकार को इसके लिए नहीं मना सकी। रविवार को मोदी सद्भावना मिशन पर सूरत में थे। उन्होंने कहा, ‘ मैंने उनसे सिर्फ इतना कहा कि आपके लोग भी गुजरात में हैं। बस मेरा इतना कहना ही काफी था। बात उनकी समझ में आ गई और नतीजा सबके सामने है।’ मोदी ने कहा, ‘ बात रखने की कला बहुत महत्वपूर्ण है। मैंने उनसे आंख में आंख मिला कर बात की। ‘ गुजराती व्यापारियों को छुड़ाने का पूरा श्रेय लेने की कोशिश करते हुए मोदी ने कहा, ‘इन 22 व्यापारियों के साथ कस्टम अधिकारियों ने तीन चीनी नागरिकों को भी पकड़ा था। तीनों चीनियों को 10 साल की सजा हो गई। इसी आरोप में पकड़े गए एक ऑस्ट्रेलियाई नागरिक को चीनी अदालत ने 14 साल की सख्त कैद सुनाई है। लेकिन, चीन के मेरे एक दौरे का असर देखिए दोस्तो कि हमारे बच्चे कुछ दिनों के अंदर घर लौट आए हैं।’

Related Posts: