हत्या की आशंका

रतलाम, 27 मई, निप्र. समीपस्थ ग्राम अमलेठा में आज सुबह उस समय सनसनी फैल गई जब गेहूं की एक कोठी से तीन बच्चियों की लाशें बरामद हुई. तीनों बालिकाएं एक ही परिवार की थीं और बीती शाम से लापता थी. पुलिस को इस मामले में हत्या की आशंका है.

पुलिस सूत्रों के अनुसार, इप्का फैक्ट्री में मजदूरी करने वाले परमानन्द सुतार की तीन बालिकाएं ज्योति उम्र 12, महालक्ष्मी उम्र 8 और रानू उम्र 4 वर्ष बीती शाम अपने घर के नजदीक रहने वाली नानी श्यामाबाई के घर खेलने गई थी. ये बालिकाएं अक्सर अपनी नानी  के घर जाती थी. बीती शाम नानी के घर कुछ देर खेलने के बाद बच्चियां गायब हो गई. रात बढऩे पर बच्चियों की खोज शुरु हुई. रात ढाई बजे तक जब बच्चियों का पता नहीं लगा तो उनके माता-पिता ने पुलिस थाने पर बच्चियों की गुमशुदगी दर्ज करा दी. आज सुबह करीब आठ बजे बच्चियों की नानी ने जब गेहंू की कोठी खोली तो तीनों गुमशुदा बच्चियों की लाशें उसमें मिली. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक गेहंू की इस कोठी में मात्र एक फीट तक गेहूं भरे हुए थे.

इस लिहाज से बच्चियों के गेहूं के नीचे दबने की कोई संभावना नहीं थी. बच्चियों की लाशों पर किसी तरह की चोटों के निशान भी नहीं पाए गए है. पुलिस को सूचना मिलते ही एसपी रमनसिंह सिकरवार समेत वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए. शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेज दिया गया है. रहस्यमय तरीके से हुई बच्चियों की मौत के मामले में हत्या की आशंका भी व्यक्त की जा रही है. संभावना भी है कि बच्चियां खेल खेल में कोठी में घुसी हों और कोठी का ढक्कन बंद हो गया हो. ऐसी स्थिति में दम घुटने से भी बच्चियों की मौत हो सकती है. पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरु कर दी है.

Related Posts: