गुना 1 दिसंबर. नससे. गढ़ा के जंगलों में पति ने अपनी पत्नी की कुल्हाड़ी से गर्दन काटकर हत्या कर दी. दंपत्ति ग्राम गढ़ा के जंगल में बालाजी के दर्शन करने के लिए गए हुए थे. घटना को देखने वाले ग्रामीणों ने आरोपी पति को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार पुरानी छावनी निवासी मुकेश पुत्र भगवानलाल ओझा बुधवार की शाम अपनी पत्नी कृष्णाबाई को साइकिल पर बैठाकर ले गया था. मुकेश ने पत्नी को बालाजी के दर्शन करने व मनौती मांगने की कहते हुए उसे साथ में लिया था. जंगल  में पहुंचने के बाद आरोपी मुकेश ने पत्नी कृष्णाबाई की गर्दन पर कुल्हाड़ी से वार करते हुए उसे धड़ से अलग कर दिया. घटना को जंगल से गुजर रहे कुछ ग्रामीणों ने देख लिया, जिन्होंने पुलिस को सूचना दी और घटना को अंजाम देकर भाग रहे आरोपी मुकेश को भी धरदबोचा. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्त में लेकर शव रात्रि में ही जिला अस्पताल के पोस्टमार्टम रूम में रखवाया. मृतिका के पिता जानकीलाल ओझा निवासी चांदोरिया थाना बदरवास ने बताया कि डेढ़ साल पहले उसने मुकेश से अपनी बेटी का विवाह किया था. विवाह के बाद से सास द्वारा कृष्णा को परेशान किया जाता था और इसके बाद सास-ससुर ने अपने बेटे-बहू को घर से निकाल दिया था. दामाद 15 दिन पहले ही अपनी पत्नी कृष्णा को ससुराल से लेकर आया था. जानकीलाल के अनुसार उसने बेटी-दामाद को अलग घर लेकर रहने और फसल आने पर सहायता करने का भी आश्वासन दिया था. उधर चर्चाओं के अनुसार मुकेश को अपनी पत्नी के चरित्र पर शक था. हालांकि अभी तक हत्या की पुख्ता वजह सामने नहीं आई है.

Related Posts: