पुलिस विभाग जुड़ा टेली-समाधान केन्द्र से

भोपाल, 20सितंबर. भोपाल का कोई भी नागरिक अगर किसी भी प्रकरण में पुलिस की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है तो वह टेली समाधान केन्द्र के टोल-फ्री नम्बर 155343 पर फोन कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है. गृह मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने आज टेली-समाधान केन्द्र से पुलिस विभाग को जोड़ते हुए कहा कि इससे अधिकारियों की जवाबदेही तय होगी.

गृह मंत्री ने कहा कि भोपाल में यह व्यवस्था सफल होने पर पूरे प्रदेश में लागू की जायेगी. शिकायतों के निराकरण की स्थिति की समीक्षा के बाद निराकरण की समय-सीमा कम करने पर विचार किया जायेगा. उन्होंने नागरिकों से इस सुविधा के बारे में सुझाव देने का आग्रह करते हुए कहा कि महत्वपूर्ण सुझावों पर विचार कर उन्हें अमल में लाया जायेगा.

गृह मंत्री ने बताया कि पुलिस विभाग को प्रदेश में जन-सुनवाई में प्राप्त 88 हजार शिकायतों में से लगभग साढ़े 84 हजार शिकायतों का निराकरण किया जा चुका है. शेष शिकायतों की समीक्षा के लिये प्रत्येक रेंज में पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को भेजा जायेगा. जिला-स्तर पर शिकायत बोर्ड का भी गठन किया गया है. इस बोर्ड में डिप्टी एस.पी. स्तर तक के अधिकारी की शिकायत की जा सकती है.

कार्यक्रम में महापौर कृष्णा गौर ने कहा कि टेली-समाधान केन्द्र के माध्यम से पुलिस से संबंधित समस्याओं का त्वरित निराकरण हो सकेगा. विधायक आरिफ अकील एवं  ध्रुव नारायण सिंह ने इसे अच्छी शुरूआत बताते हुए शिकायतों के निराकरण की समय-सीमा कम करने पर जोर दिया.

पुलिस महानिदेशक एस.के. राउत ने कहा कि गृह मंत्री के प्रयासों से नागरिकों के लिये यह सुविधा शुरू की गयी है. इसे प्रभावी ढंग से क्रियान्वित किया जायेगा. टेली-समाधान केन्द्र के माध्यम से शिकायतों के निराकरण के लिये प्रत्येक स्तर पर 15 दिन की समय-सीमा राखी गयी है. प्रथम स्तर पर एडिसनल एस.पी., इसके बाद समय-सीमा में निराकरण नहीं होने पर द्वितीय स्तर पर एस.एस.पी. और इसके बाद पुलिस मुख्यालय को सूचना दी जायेगी.

इस सुविधा के बारे में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक यू.के. लाल ने विस्तार से जानकारी दी.नीलोफर शेरवानी ने टेली-समाधान केन्द्र की कार्य-प्रणाली के बारे में बताया. इस अवसर पर पार्षद श्रीमती मीना यादव एवं पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

Related Posts: