भोपाल, 15 दिसंबर. 1935 में स्थापित सीएसआई सही रास्ता नीचे अपने प्रारंभिक वर्षों के बाद भारतीय आईटी उद्योग का मार्गदर्शन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. आज सीएसआई में पूरे भारत में 69 अध्यायों, 381 छात्र शाखाओं और भारत के सबसे प्रसिद्घ आईटी उद्योग के नेताओं, प्रतिभाशाली वैज्ञानिकों और समर्पित शिक्षाविदों सहित 65,000 से अधिक सदस्य हैं.

सीएसआई के मिशन के लिये आईटी पेशेवरों की सभी श्रेणियों के लिये अनुसंधान, ज्ञान बांटने, सीखने और कैरियर वृद्घि की सुविधा है, जोकि एक साथ प्रेरणादायक और उद्योग में नये खिलाडिय़ों के लिये पोषण और उन्हें मदद करने के लिये समुदाय आईटी में एकीकृत है. सीएसआई भी अन्य उद्योग संघों, सरकारी निकायों और शिक्षाविदों के साथ मिलकर काम करने के लिये सुनिश्चित करें कि आईटी उन्नति के लाभ अंतत: भारत के हर नागरिक के लिये नीचे रसना. सोसायटी एक कार्यकारी समिति के मार्गदर्शन के अंतर्गत कार्य करता है. इस समिति के सदस्य सोसायटी के मतदान करने वाले सदस्यों के द्वारा चुने गये हैं. सोसायटी के कार्यात्मक सिर राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति द्वारा सहायता प्रदान की है. सचिव और कोषाध्यक्ष होंगे. अन्य सदस्यों के आठ क्षेत्र के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष और उपर्युक्त के अलावा मंडल अध्यक्षों तत्काल विगत राष्ट्रपति के साथ जुड़े होना जारी है. तीन सदस्यों की एक निर्वाचित नामांकन समिति आयोजित वार्षिक चुनाव कराता है. सीएसआई भोपाल अध्यास सीएसआई नेशनल कन्वेंशन में सर्वश्रेष्ठ क्षेत्रीय अध्याय 1-3 दिसंबर से अहमदाबाद में आयोजित की उपाधि से सम्मानित किया गया. सदस्य भोपाल से वर्तमान अध्याय अनिल श्रीवास्तव आईएएस एवं क्षेत्र उपाध्यक्ष सीएसआई सुश्री अवंतिका वर्मा और सुश्री आशा खन्ना दोनों प्रबंधन समिति के सदस्यों और विवेक धवन, अध्याय उपाध्यक्ष शामिल हैं. भोपाल की ओर से अध्याय वाइस चेयरमैन विवेक धवन पी. त्रिमूर्ति अध्यक्ष पुरस्कार समिति एवं एमडी अग्रवाल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सीएसआई से पुरस्कार प्राप्त किया.

Related Posts: